Thursday, April 9, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

Breaking News - RBI ने रेपो रेट में 0.75 तो रिवर्स रेपो रेट में 0.90 फीसदी की कटौती की , सस्ते होंगे लोन - कम होगी EMI

Breaking News - RBI ने रेपो रेट में 0.75 तो रिवर्स रेपो रेट में 0.90 फीसदी की कटौती की , सस्ते होंगे लोन - कम होगी EMI

नई दिल्ली । कोरोना वायरस के चलते दुनिया में आई आर्थिक मंदी के बीच शुक्रवार को आरबीआई ने बड़ा फैसला लेते हुए रेपो रेट और रिवर्स रेपो रैट में बड़ी कटौती की । आरबीआई गर्वनर शक्तिकांत दास ने एक पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए ऐलान किया कि कोरोना से जंग के बीच भारत सरकार ने बड़ी राहत का ऐलान किया है । उन्होंने इस दौरान रेपो रेट में 0.75 फीसदी तो रिवर्स रेपो रेप में 0.90 में कटौती का ऐलान किया । इस कटौती के बाद रेपो रेट 4.4 फीसदी हुई , वहीं रिवर्स रेपो रेट घटकर 4 फीसदी रह गई है । इस दौरान उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था के लिए हमेशा मुश्किल दौर नहीं रहता । सरकार ने कई राहत पैकेज का ऐलान किया है । आरबीआई के इस ऐलान के बाद ऐसी संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में इससे देश की जनता को बड़ी राहत मिलेगी । 

इस दौरान आरबीआई गवर्नर ने तीन महीने तक EMI से राहत देने के लिए बैंकों को सलाह दी है , हालाकि इस पर अंतिम फैसला बैंक लेंगे । उन्होंने कहा कि देश की जनता अपनी बैंकिंग व्यवस्था पर विश्वास करे । सभी का पैसा सुरक्षित है ।

बता दें कि कोरोना वायरस के चलते जहां दुनिया भर के बाजार में भारी मंदी देखी जा रही है , वहीं भारतीय बाजार भी इससे अछूते नहीं रह गए हैं। भारतीय बाजारों में पिछले कुछ दिनों में सुधार देखा जा रहा है , जबकि पिछले कुछ दिनों की बात करें तो बाजार धड़ाम हो गए थे । 

इस सबके बीच आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को बड़ा फैसला लेते हुए रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में बड़ी कटौती का ऐलान कर दिया है । उन्होंने कहा कि कोरोना के चलते वैश्विक स्तर पर आर्थिक गतिविधियां थीमी पड़ी हैं । ऐसे में हमने CRR को घटाने का फैसला लिया है । कोरोना ने भारत की अर्थव्यवस्था को भी प्रभावित किया है , जिसके लिए भारत सरकार ने राहत पैकेज का ऐलान किया है । 


आरबीआई गवर्नर ने बताया कि कोरोना वायरस की वजह से कैश फ्लो में आई चुनौती से निपटने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं.कैश रिजर्व रेशियो (CRR) में 100 बेसिस प्वाइंट की कटौती करके 3 प्रतिशत कर दिया गया है ।यह एक साल तक की अवधि के लिए किया गया है । विदित हो कि गुरुवार को राहत पैकेज के ऐलान में वित्त मंत्री ने इस पर कुछ नहीं कहा था. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी पीएम मोदी को लेटर लिखकर यह मांग की है कि लोगों के लोन ईएमआई भुगतान को छह महीने के लिए टाल दिया जाए ।

वित्त मंत्रालय ने मामले की गंभीरता को देखते हुए रिजर्व बैंक (आरबीआई) को लेटर लिखकर कहा था कि वह ग्राहकों को राहत देने के लिए आपातकालीन उपाय करे. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी गुरुवार को पीएम मोदी को लेटर लिखकर यह मांग की थी कि कोरोना को देखते हुए लोगों की ईएमआई और लोन भुगतान को छह महीने के लिए टाल दिया जाए ।

उन्होंने कहा कि हमने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट को घटाकर बाजार को राहत देने का काम किया गहै । इस दौरान उन्होंने बैंकों से आह्वान किया कि वे सुनश्चित करें कि लोगों को पैसों की परेशानी न हो । आरबीआई पर वित्तीय स्थिरता बनाए रखने की जिम्मेदारी होती है । 

 

Todays Beets: