Tuesday, August 4, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

बिहार के कई जिलों में बाढ़ का खतरा , रिहायशी इलाकों में पानी भरा , NDRF की टीमें बचाव कार्यों में जुटीं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बिहार के कई जिलों में बाढ़ का खतरा , रिहायशी इलाकों में पानी भरा , NDRF की टीमें बचाव कार्यों में जुटीं

पटना । कोरोना काल में जहां पिछले कुछ माह से लगातार संकटों का दौर जारी है , वहीं अब राज्य के निवासियों के लिए नई आफत दस्तक दे रही है । असल में बिहार में नेपाल से सटे कई जिलों में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है । राज्य के मुजफ्फरपुर, मोतिहारी, दरंभगा और सीतामढ़ी के तराई वाले इलाके में लोगों की समस्या बढ़ने लगी है। राज्य की महानंदा, कमला बलान, कोसी और बागमती नदियां उफान पर बह रही हैं । साथ ही गंगा के बढ़ते जलस्तर से भी लोगों में डर समाया हुआ है । इस सबके चलते कई जिलों में अब बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है । प्रभावित इलाकों में जहां कई घर पानी में डूब गए हैं , वहीं कई लोग आने वाले खतरे को देखते हुए अपने घरों को छोड़कर जाने को मजबूत हो गए हैं । वहीं स्थिति को संभालने के लिए एनडीआरएफ और एसीआरएफ की टीमें प्रभावित इलाकों में तैनात कर दी गई हैं। वहीं राज्य सरकार भी स्थिति से निपटने के इंतजाम करने में जुट गई है ।

बता दें कि कोरोना वायरस जैसी महामारी के चलते पिछले 5 महीनों से अपने घरों में बंद लोगों को अपने अपने बरसात के मौसम के साथ ही घर से निकलने को मजबूर होना पड़ रहा है । राज्य के कई जिलों में बरसात के साथ ही बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है । असल में बाढ़ का खतरा नेपाल से सटे कई जिलों में सबसे ज्यादा है । मुजफ्फरपुर, मोतिहारी, दरंभगा और सीतामढ़ी के तराई वाले इलाके में तो लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । कई जगहों पर बाढ़ का पानी घुस गया है , इसके चलते वह अपना घर छोड़ सुरक्षित स्थान के लिए निकल गए हैं , वहीं कई लोग आने वाले खतरे के चलते अपना घर छोड़कर जाने को विवश हैं। 


दरभंगा जिले के कुशेश्वर स्थान इलाके में बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है । लगातार हो रही बारिश और नेपाल से छोड़े गए पानी के कारण कमला बलान और कोशी की नदियों का जल स्तर बढ़ने लगा है । ऐसे में अब पानी नदी से निकलकर कुशेश्वर स्थान के निचले इलाके में फैलने लगा है । 

मौजूदा परिस्थिति में पानी के कटाव से नदी किनारे बसे इटहर पंचायत के अस्तित्व पर ही खतरा खड़ता मंडराने लगा है । यहां के कई घर पानी में समा चुके हैं। लोग आने वाले खतरे की आशंका के चलते अपने घरों को छोड़कर जा रहे हैं। 

हालांकि राज्य की नीतीश कुमार सरकार बाढ़ से निपटने के इंतजाम में जुट गई है । इसी क्रम में प्रभावित इलाकों में NDRF और ACRF की टीमें तैनात कर दी गई हैं । कटिहार, अररिया, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, मोतिहारी, बेतिया, नालंदा, छपरा, पटना तथा बक्सर जिलों में ये टीमें लोगों को जागरुक करने के साथ ही कई अन्य व्यवस्थाओं को भी देख रही हैं।

Todays Beets: