Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

उत्तर भारतीयों पर नहीं थम रहे हमले , सूरत में बिहार के अमरजीत की सिर पर रॉड मारकर हत्या

अंग्वाल न्यूज डेस्क
उत्तर भारतीयों पर नहीं थम रहे हमले , सूरत में बिहार के अमरजीत की सिर पर रॉड मारकर हत्या

नई दिल्ली । गुजरात में यूपी-बिहार समेत उत्तर भारतीयों पर हमलों की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। ताजा घटनाक्रम के अंतर्गत सूरत में बिहार के एक युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में रॉड से पीटकर हत्या कर दी गई है। मारा गया युवक अमरजीत बिहार के गया स्थित कोच थाना क्षेत्र का रहने वाला था। उसके परिजनों ने युवक के सिर पर गंभीर चोट के निशान पाए हैं, जिसके बाद प्राथमिक जांच में किसी रॉड से सिर पर वार किए जाने के चलते मौत की खबर है। अमरजीत सूरत की एक कपड़ा मिल में काम करता था। 

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार रात अमरजीत के फोन पर किसी की कॉल आई और वह घर से बाहर किसी काम से जाने की बात कहते निकला था, लेकिन थोड़ी देर बाद ही उसका शव संदिग्ध परिस्थितियों में सूरत स्थित महावीर कॉलेज के पास पड़ा मिला। उसके सिर पर किसी रॉड से हमला किया गया था। परिजनों ने उसकी हत्या की साजिश बताते हुए मामले को हाल में उत्तर भारतीयों पर हुए हमले से जोड़ा है। परिजनों का कहना है कि अमरजीत एक कपड़ा मिल में काम करता था, जहां काम करने वाले लोगों को भी काम छोड़कर जाने की धमकियां दी गई थीं। ऐसा  नहीं करने पर उन्हें जान से मारने की धमकियां दी गई थीं। 


बता दें कि पिछले 15 सालों से अमरजीत गुजरात में ही रह रहा था, वह गुजरात में रोजगार की तलाश में आया था और उसके बाद यहीं बस गया था। उसने यहां अपने घर तक बना लिया था। उसके परिवार में पत्नी व दो बच्चे हैं।  

Todays Beets: