Thursday, July 18, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

बजट 2019 - 20 : इनकम टैक्स छूट के दायरे में आ सकता है होम लोन का इंश्योरेंस : सूत्र

अंग्वाल न्यूज डेस्क
बजट 2019 - 20 : इनकम टैक्स छूट के दायरे में आ सकता है होम लोन का इंश्योरेंस    : सूत्र

नई दिल्ली । केंद्र की मोदी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल में नौकरीपेशा लोगों को थोड़ी राहत दे सकती है । आगामी 5 जुलाई को वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण  वित्त वर्ष 2019-20 का आम बजट पेश करेंगी । सूत्रों का कहना है कि इस बार आम बजट में देशवासियों को होम इंश्योरेंस  के प्रीमियम की इनकम टैक्स में छूट मिल सकती है । इस बार के बजट में छूट का अलग सेक्शन होने का ऐलान संभव है  । मिली जानकारी के अनुसार, हेल्थ, लाइफ इंश्योरेंस की तर्ज पर होम इंश्योरेंस प्रीमियम पर मिलेगी छूट मिल सकती है । इस बार सरकार इनकम टैक्स में 80D की लिमिट बढ़ाकर करदाताओं को छूट दी जा सकती है । इतना ही नहीं  सरकार अफोर्डेबल होम इंश्योरेंस पर भी विचार कर सकती है ।

जानकारी के अनुसार , प्राकृतिक आपदाओं के नुकसान से निपटने के लिए सरकार यह ऐलान कर सकती है । असल में पिछले दिनों ओडिशा, केरल, चेन्नई की बाढ़ में काफी नुकसान हुआ है , ऐसे में सरकार की नई व्यवस्था लोगों को राहत देगी। विदित हो कि देश में होम इंश्योरेंस का चलन बहुत कम है । लेकिन इस व्यवस्था के लागू होने से आपदा, दुर्घटना के जोखिम से निपटने में मदद होगी । होम इंश्योरेंस प्रीमियम में टैक्स छूट मुमकिन है. बाढ़ से हुए नुकसान में मददगार हो सकता है ।  होम इंश्योरेंस की डिमांड बढ़ने की उम्मीद है ।  अफोर्डेबल होम इंश्योरेंस पर भी विचार किया जा रहा है ।

विश्लेषकों का मानना है कि आगे चलकर शेयर बाजारों की दिशा आम बजट से तय होगी । बजट से पहले निवेशक ‘देखो और इंतजार करो’ की नीति पर चलेंगे, हालांकि, विश्लेषकों का मानना है कि अमेरिका और चीन ने जी-20 शिखर सम्मेलन में सप्ताहांत व्यापार युद्ध को समाप्त करने की घोषणा की है जिससे बाजार में कुछ तेजी देखी जा सकती है ।


 

 

Todays Beets: