Monday, February 17, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

गिरिराज सिंह ने किया दिल्ली में भाजपा की हार का 'खुलासा' , बोले- कार्यकर्ताओं पर जोश इतना हावी रहा कि खुद वोट नहीं डाला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
गिरिराज सिंह ने किया दिल्ली में भाजपा की हार का

बेगूसराय । दिल्ली विधानसभा चुनावों में भाजपा को एक बार फिर से मुंह की खानी पड़ी है । भले ही लोकसभा के चुनावों में भाजपा ने सभी 7 सीटों पर परचम लहराया था , लेकिन दिल्ली चुनावों में पार्टी 70 में से महज 8 सीटों पर सिमट गई । हार पर मंथन के लिए भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने पार्टी महासचिवों की एक बैठक भी बुलाई थी, जिसमें कई मुद्दों पर मंथन हुआ । इस सब के बीच पार्टी के फायरब्रांड नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भाजपा की हार के सबसे बड़े कारण का 'खुलासा' कर दिया है। उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता कुछ ज्यादा जोश में थे । ये जोश उनपर इतना हावी रहा कि उन्होंने खुद अपने वोट नहीं डाले । यही भाजपा की हार का कारण बना है । 

बता दें कि सोशल मीडिया में कुछ इस तरह की खबरें चली थीं कि दिल्ली में भाजपा के कुल कार्यकर्ताओं की संख्या 62 लाख है , जबकि सभी 70 सीटों पर भाजपा को मात्र 35 लाख वोट ही मिले । ऐसे में शेष 27 लाख पार्टी के कार्यकर्ताओं ने क्या किया। ये लोग ही हार का कारण बने हैं। अगर पार्टी के सभी कार्यकर्ता ही अपना वोट डाल देते तो पार्टी की बंपर जीत सुनिश्चित थी । हालांकि , भाजपा के दिल्ली में कार्यकर्ताओं की संख्या के बारे में पार्टी की ओर से कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है । 


हालांकि पार्टी के एक बड़े पदाधिकारी का कहना है कि दिल्ली में भाजपा के 28 हजार एक्टिव सदस्य हैं, हालांकि कुल सदस्यों की संख्या 17 लाख है । 

इससे इतर , बिहार के बेगूसराय में जब गिरिराज सिंह से दिल्ली की हार पर सवाल दागे गए तो उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता उत्साह में वोट डालने नहीं गए। यही कारण है कि पार्टी का प्रदर्शन खराब रहा। वहीं  गिरिराज सिंह का दावा है कि इन नतीजों का बिहार के चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा । उनके मुताबिक, लोकसभा चुनावों की तरह ही विधानसभा चुनाव में भी एनडीए की जीत होगी । 

Todays Beets: