Monday, July 6, 2020

Breaking News

   उत्तराखंड: कोरोना के 46 नए मामले, कुल पॉजिटिव केस हुए 1199     ||   माले: ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत आईएनएस जलश्व से मालदीव में फंसे 700 भारतीय लाए जा रहे वापस     ||   बिहार: ADG लॉ एंड ऑर्डर ने जताई आशंका, प्रवासियों के आने से बढ़ सकता है अपराध     ||   दिल्ली: बीजेपी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने संभाला अपना पदभार     ||   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना को युद्ध के लिए तैयार रहने को कहा , भारतीय सेना ने भी बनाया अपनी तैयारी का ब्लू प्रिंट

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सेना को युद्ध के लिए तैयार रहने को कहा , भारतीय सेना ने भी बनाया अपनी तैयारी का ब्लू प्रिंट

नई दिल्ली । कोरोना काल में जहां पूरी दुनिया इस जानलेवा वायरस से जूझ रहा है , वहीं चीन अपनी नई नई साजिशों को अंजाम देने के साथ ही पूरी दुनिया का ध्यान कोरोना मामले की जांच से हटाने में जुटा हुआ है । इसी क्रम में वह अब भारत के साथ गतिरोध बढ़ाता नजर आ रहा है । असल में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने मंगलवार को अपने देश की सेना को युद्ध के लिए तैयार रहने का आदेश दिया । इसके साथ ही पूरी दृढ़ता से देश की संप्रभुता की रक्षा करने को कहा । शी जिनपिंग ने बीजिंग में चल ररहे संसद सत्र के दौरान पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) और पीपुल्स आर्म्ड पुलिस फोर्स के प्रतिनिधियों की पूर्ण बैठक में हिस्सा लेते हुए यह टिप्प्णी की । 

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के साथ तनातनी के बीच प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में तीनों सेनाओं के अध्यक्षों के साथ बैठक की विस्तृत रिपोर्ट ली । बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों सेनाओं से मौजूदा हालात पर सुझाव मांगे हैं । बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल सीडीएस जनरल बिपिन रावत भी मौजूद थे । इस दौरान तीनों सेनाओं की तरफ से लद्दाख में चीन के साथ बने हालात पर विस्तृत रिपोर्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दी गई ।

असल में शी ने सेना को आदेश दिया कि वह सबसे खराब स्थिति की कल्पना करे, उसके बारे में सोचे और युद्ध के लिए अपनी तैयारियों और प्रशिक्षण को बढ़ाए, तमाम जटिल परिस्थितियों से तुरंत और प्रभावी तरीके से निपटे । साथ ही पूरी दृढ़ता के साथ राष्ट्रीय संप्रुभता, सुरक्षा और विकास संबंधी हितों की रक्षा करे । 

इसके बाद चीन भारत सरकार के दो सांसदों के ताइवान में साई इंग-वेन ने बुधवार को दूसरी बार राष्ट्रपति पद की शपथ लेने पर दी गई बधाई से भी भड़क गया है । भाजपा सांसदों की वर्चुअल मौजूदगी पर चीनी दूतावास ने विरोध दर्ज कराया है । विदित हो कि राष्ट्रपति पद के शपथ समारोह में भाजाप सांसद मीनाक्षी लेखी और राहुल कासवान का भी बधाई संदेश दिखाया गया था। 


मिली जानकारी के अनुसार , नई दिल्ली में चीनी दूतावास के काउंसलर (संसद) लियु बिंग ने एक ईमेल लिखकर आपत्ति जताई है और कहा कि निर्वाचित प्रतिनिधियों की ओर से बधाई संदेश देना भी बेहद गलत था । चीनी राजदूत ने अपनी शिकायत में लिखा, यूएन चार्टर और इसके अहम संकल्पों में वन चाइना के सिद्धांत को माना गया है । वन चाइना पॉलिसी को लेकर अंतरराष्ट्रीय संबंधों और पूरे वैश्विक समुदाय के बीच आम सहमति है । चीनी राजदूत ने लिखा कि 70 साल पहले द्विपक्षीय संबंध स्थापित होने के बाद से ही भारत की सरकारें भी वन चाइना पॉलिसी को मानती रही हैं ।

इस समारोह में 41 देशों के 92 प्रतिनिधि मौजूद थे जिसमें अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो भी शामिल है । हालांकि, भारत की तरफ से कोई प्रतिनिधि आधिकारिक तौर पर शामिल नहीं हुआ था लेकिन बीजिंग दो सांसदों की मौजूदगी से भी नाराज है ।

बता दें कि भारत हमेशा से ताइवान को लेकर बीजिंग की 'वन चाइना पॉलिसी' को मानता रहा है और उसके साथ किसी भी तरह के कूटनीतिक संबंध स्थापित नहीं किए हैं लेकिन नए घटनाक्रम से इस नीति में बदलाव के संकेत भी दिख रहे हैं । चीन, ताइवान को 'एक देश, दो सिस्टम' का हिस्सा मानता है जबकि ताइवान खुद को स्वतंत्र मानता है. हॉन्गकॉन्ग भी इसी सिस्टम के तहत चीन का हिस्सा है.

 

Todays Beets: