Monday, August 26, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

कांग्रेसी नेता अधीर रंजन चौधरी का दूसरा 'सेल्फ गोल' , अब कश्मीर की तुलना हिटलर के नाजी कैंप से कर दी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कांग्रेसी नेता अधीर रंजन चौधरी का दूसरा

नई दिल्ली । लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने पिछले दिनों संसद में अनुच्छेद 370 पर चर्चा के दौरान कुछ ऐसा कर दिया था कि यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी काफी गुस्सा हो गईं। लोगों ने अधीर रंजन चौधरी के बयान को कांग्रेस के लिए सेल्फ गोल करार दिया , लेकिन चौधरी ने एक बार फिर कांग्रेस के लिए सेल्फ गोल करते हुए हुए कश्मीर की तुलना हिटलर के नाजी कैंप से कप डाली । उन्होंने अपने बयान में कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी ने लाल किले से घोषणा की थी कि हम कश्मीरियों को गोलियों से नहीं बल्कि उन्हें गले लगाकर आगे बढ़ाएंगे, लेकिन आज कश्मीर को कॉन्सेंट्रेशन कैंप बना दिया गया है । न कोई मोबाइल या इंटरनेट कनेक्शन नहीं, कोई अमरनाथ यात्रा नहीं, वहां क्या हो रहा है?

विदित हो कि अनुच्छेद 370 के मुद्दे पर लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने एक बार फिर कश्मीर राग अलापा है। उन्होंने हाल में पाकिस्तान के रुख पर पलटवार करते हुए कहा कि कश्मीर मुद्दा हमारा आंतरिक मामला है । हम कोई भी कानून बना सकते हैं । यह हमारा अधिकार है । भारत के साथ व्यापार को निलंबित करने के पाकिस्तान के फैसले पर अधीर रंजन ने कहा कि मुझे पता था कि वह (पाकिस्तान) कुछ करने जा रहा है।


इससे पहले लोकसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल पर चर्चा के दौरान कुछ ऐसा हुआ था कि कांग्रेस की को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था । उन्होंने कहा था कि रातों-रात नियम कायदों को ताक पर रखकर जम्मू कश्मीर के टुकड़े कर दिए गए । उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह को संबोधित करते हुए कहा था कि आप कहते हैं कि कश्मीर हमारा आंतरिक मुद्दा है , लेकिन कश्मीर मामला 1948 से ही संयुक्त राष्ट्र की निगरानी में है , क्या यह एक आंतरिक मुद्दा है? हमने शिमला समझौता पर दस्खत किया था । लाहौर डिक्लियरेशन पर हमारा रुख था. क्या यह एक आंतरिक मुद्दा है?

Todays Beets: