Wednesday, April 1, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

पाकिस्तान दक्षिण एशिया का वुहान बन जाएगा ! 24 घंटे में कोरोना के मरीजों की संख्या तीन गुना बढ़ी , सरकार ने किए 'हाथ खड़े'

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पाकिस्तान दक्षिण एशिया का वुहान बन जाएगा ! 24 घंटे में कोरोना के मरीजों की संख्या तीन गुना बढ़ी , सरकार ने किए

नई दिल्ली । चीन से निकलकर पूरी दुनिया में महामारी का रूप धारण करने वाले कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है । दुनिया भर में अब तक इस वायरस के चलते अब तक 7300 लोगों की मौत हो गई है । मरने वाले सबसे ज्यादा चीन से हैं , जबकि दूसरे नंबर पर इटली और तीसरे नंबर पर ईरान है । अगर बात भारत की करें तो यहां बुधवार तक संक्रमित लोगों की संख्या 148 हो गई है , जबकि यहां इस वायरस से मरने वालों की संख्या 3 हो गई है । इस सब से इतर , अगर बात भारत के पड़ोसी देश की करें तो यहां स्थिति एकाएक विस्फोटक हो गई है । अगर पाकिस्तान को चीन के बाद सबसे तेजी से संक्रमित देशों की सूची में रखें तो अतिश्योक्ति नहीं होगी । ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि पाकिस्तान में एक दिन के भीतर कोरोना वायरस से ग्रसित लोगों की संख्या में तीन गुना की वृद्धि हुई है । मंगलवार को पाकिस्तान में कोरोना के चलते पहली मौत हुई थी । इस सब के बीच विशेषज्ञों का कहना है कि पाकिस्तान आने वाले दिनों में दक्षिण एशिया का वुहान बन सकता है । 

बता दें कि क्या चीन (China), इटली (Italy) और ईरान (Iran) के बाद पाकिस्तान (Pakistan) में कोरोना (Corona Virus) व्यापक रूप से फैलता दिखाई दे रहा है । पाकिस्तान में एक दिन में ही मरीजों की संख्या में तीन गुना की वृद्धि होने पर अब पाकिस्तान को नया खतरा करार दिया जा रहा है । खुद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान मीडिया से बात में यह बात कह चुके हैं कि पाकिस्तान इस स्थिति से निपटने की स्थिति में नहीं है । पूरे देश में कोरोना से निपटने के लिए इंतजाम नजर नहीं आ रहे हैं , वहीं पाकिस्तान के सिंध प्रांत में एक दिन के अंदर कोरोना के 115 मामले सामने आए हैं ।  

इस क्षेत्र में कोरोना के मरीजों की इस कदर वृद्धि को आने वाले समय में एक बड़े संकट के रूप में देखा जा रहा है । पाकिस्तान में एकाएक कोरोना के मरीजों की संख्या भारत से भी कई आगे पहुंच गई है । खुद पाकिस्तान सरकार को इस बात का डर सता रहा है कि कहीं चीन, इटली और ईरान के बाद उसका नंबर तो नहीं आने वाला है. क्या पाकिस्तान दक्षिण एशिया का नया 'वुहान' बनने वाला है । 


असल में इस सब की आशंका के पीछे वहां इलाज के लिए पूरे इंतजाम नहीं होना और पाकिस्तान में कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों की तादाद एकाएक 237 तक पहुंचना है । अकेले पाकिस्तान के सिंध प्रांत में कोरोना के सबसे ज्यादा 172 मामले सामने आए हैं । इसी क्रम में खैबर पख्‍तूनख्‍वा में 16, बलूचिस्‍तान में 16, पंजाब में 26, राजधानी इस्‍लामाबाद में 2, गिलगिट बाल्टिस्‍तान में 5  मामले सामने आए । इतना ही नहीं कोरोना पाकिस्तान के चार सूबों के साथ साथ गिलगित-बाल्टिस्तान में भी फैल चुका है । 

इससे पहले पाक पीएम इमरान खान ने एक बयान में विश्व समुदाय से मदद की गुहार लगाई थी। उन्होंने कहा कि हम लोग बड़े मुश्किल वक्त से गुजर रहे हैं ।  हम अमेरिका और यूरोप की तरह अमीर नहीं हैं हम कोरोना से बचेंगे तो हमारे लोग भूख से मर जाएंगे । इसके बाद मंगलवार शाम पाकिस्तान के लोगों को संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा - एयरपोर्ट पर अब तक 9 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है । पाकिस्तान में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज का पहला केस 26 फरवरी को आया था । हम बहुत ही मुश्किल वक्त से गुजर रहे हैं । हमारी हालत अमेरिका और यूरोप जैसी नहीं है । हम एक तरफ कोरोना वायरस से बचने जाएंगे तो हमारे लोग भूख से मर जाएंगे । 

असल में पाकिस्तान के प्रशासन के पास कोरोना को रोकने की योजना मौजूद नहीं है । यही वजह थी कि ईरान से बलोचिस्तान आए लोगों में कोरोना के लक्षण मिलने के बावजूद आईसोलेशन में नहीं रखा गया । बल्कि सभी संदिग्ध मरीजों को एक साथ रख दिया गया और जब लोग वहां से कराची पहुंचे तो कोरोना साथ ले आए ।

Todays Beets: