Thursday, January 23, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

क्या संसद - पुलवामा आतंकी हमले से जुड़े हैं DSP देवेंद्र सिंह के तार , विपक्षी बोले - डोभाल साहब ये क्या हो रहा है?

अंग्वाल न्यूज डेस्क
क्या संसद - पुलवामा आतंकी हमले से जुड़े हैं DSP देवेंद्र सिंह के तार , विपक्षी बोले - डोभाल साहब ये क्या हो रहा है?

नई दिल्ली । जम्मू-कश्मीर के कुलगाम से गिरफ्तार किए गए DSP देवेंद्र सिंह के आतंकियों के साथ कनेक्शन की खबरों ने देश की राजनीति में भी उथल-पुथल मचा दी है । आतंकियों को दिल्ली तक सुरक्षित पहुंचाने की एवज में मोटी रकम वसुलने वाले इस डीएसपी को लेकर अब सवाल उठ रहे हैं कि आखिर इसकी करतूतों का खुलासा इतनी देर में क्यों हो रहा है , जबकि अफसर संवेदनशील क्षेत्र में इतने अहम पद पर काबिज था । विपक्षी दलों ने इस घटना के खुलासे के बाद केंद्र की मोदी सरकार के साथ ही राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल पर भी सवाल दागे हैं । इस सब के बीच बड़ी खबर ये है कि डीसीपी देवेंद्र सिंह का पुलवामा कनेक्शन भी सामने आ रहा है । 

असल में कांग्रेस ने कुलगाम में हिज्बुल मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा के आतंकियों के साथ गिरफ्तार डीएसपी देवेंद्र सिंह को लेकर सवाल उठाए हैं । कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने इस घटना पर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए पूछा है कि आखिर यह किस तरह की देश की सुरक्षा हो रही है । आखिर कौन है ये देवेंद्र सिंह ? उन्होंने सवाल उठाया कि आखिर 2001 में संसद और पुलवामा में हुए आतंकी हमले में उसका क्या रोल था । क्या वो अपनी कार में हिज्बुल के आतंकियों को ले जा रहा था ,. या वो पूरी साजिश का सिर्फ एक मोहरा भर है । इसका मुख्य साजिशकर्ता कहीं और है । 

वहीं राष्ट्रीय लोकदल के नेता जयंत चौधरी ने मंगलवार को ट्वीट के जरिए मोदी सरकार पर हमला बोला । उन्होंने लिखा - एक पुलिस अफसर जिसने कुछ दिनों पहले ही विदेशी राजनयिकों को जम्मू-कश्मीर का दौरा करवाया, जब पुलवामा में जवानों पर कार से हमला किया गया तब भी वह वहां पर मौजूद था । कार सुरक्षा से पार जाकर जवानों पर हमला कर देती है. डोभाल साहब क्या हो रहा है।


बता दें कि डीएसपी देवेंद्र सिंह श्रीनगर एयरपोर्ट पर तैनात था । उसने जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गए विदेशी राजनयिकों को भी रिसीव किया था । एंटी-हाईजैकिंग स्क्वॉड के डीएसपी देवेंद्र सिंह को आतंकवाद के खिलाफ ऑपरेशन में अहम भूमिका निभाने के लिए राष्ट्रपति मेडल से भी नवाजा जा चुका है । वह एंटी टेरर ग्रुप का भी सदस्य था।

वहीं डीएसपी का नाम अब पुलवामा में 14 फरवरी 2019 को हुए आतंकी हमले से भी जोड़ा जा रहा है। इस हमले में 40 से अधिक सीआरपीएफ के जवान शहीद हो गए थे ।  इस तरह की भी खबरें आ रही हैं कि इस हमले के तार भी देवेंद्र सिंह से जुड़े हैं । डीएसपी देवेंद्र सिंह से पुलिस को पुलवामा पुलिस लाइन पर हुए आतंकी हमले के बारे में भी कथित तौर पर कुछ अहम जानकारियां मिली थीं । 

बहरहाल, अभी डीएसपी और आतंकियों से पूछताछ की जा रही है । डीसीपी के पिछले कुछ सालों के कार्यकाल के दौरान हुई वारदातों और उनकी गतिविधियों के रिकॉर्ड खंगाले जा रहे हैं । 

Todays Beets: