Saturday, August 8, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

अयोध्या में गर्भगृह की जमीन रामलला को स्थानांतरित , सीएम योगी कल लेंगे तैयारियों का जायजा

अंग्वाल संवाददाता
अयोध्या में गर्भगृह की जमीन रामलला को स्थानांतरित , सीएम योगी कल लेंगे तैयारियों का जायजा

अयोध्या । अयोध्या में राममंदिर के लिए भूमिपूजन की तैयारियां पूरे जोर-शोर से चल रही हैं । इसी क्रम में मंदिर के गर्भगृह की जमीन रामलला को सौंप दी गई है । सूत्रों के हवाले से मीडिया में आई खबरों के मुताबिक मंदिर की 67 एकड़ जमीन श्री रामजन्म भूमि तीर्थ ट्रस्ट को स्थानांतरित कर दी गई है। इसके साथ ही अयोध्या में मंंदिर के भूमिपूजन की तैयारियों का जायजा लेने के लिए कल यानी रविवार को सीएम योगी आदित्यनाथ दौरा करेंगे । 

अयोध्या में मंदिर निर्माण शुरू होने की तैयारियों के बीच गर्भगृह की जमीन रामलला को सौंपने की औपचारिकता पूरी हो चुकी है । गौरतलब है कि अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पूर्व करीब 28 सालों तक रामलला इसी गर्भगृह में अस्थायी टेंट में रहे थे ।अदालती फैसले से मंदिर निर्माण का रास्ता साफ होने के बाद उन्हें 25 मार्च को पूरे धार्मिक अनुष्ठान के साथ अस्थायी मंदिर में विराजमान कराया गया था ।

मंदिर निर्माण पूरा होने के बाद रामलला को फिर से गर्भगृह में अधिष्ठापित किया जाएगा । राममंदिर के नए मॉडल के तहत गर्भगृह पूरी तरह सोने से निर्मित होगा । यहीं पर रामलला की मूर्ति रखी जाएगी और इसमें पुजारी के अलावा किसी को जाने की इजाजत नहीं होगी।


रामलला के गर्भगृह के चारो तरफ भूमि के समतलीकरण का काम 11 मई को शुरू हुआ था जिसे जून में ही पूरा कर लिया गया था । इसके बाद ही मंदिर की आधारशिला रखने की रूपरेखा तैयार की गई। अब 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत तमाम गणमान्य लोगों की मौजूदगी में मंदिर के लिए भूमि पूजन होने जा रहा है।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

अयोध्या में भूमि पूजन समारोह के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं । सुरक्षा इंतजामों के साथ-साथ कोरोना महामारी को देखते हुए भी विशेष सतर्कता बरती जा रही है । कार्यक्रम के दौरान सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए व्यापक उपाय किए जा रहे हैं । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सारे इंतजामों का जायजा लेने के लिए रविवार को खुद अयोध्या जाने वाले हैं ।

Todays Beets: