Tuesday, June 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

आजम खान के बोल पर भड़के गिरिराज सिंह, बोले- चुनाव खत्म होने दो मैं रामपुर आकर बताता हूं बजरंगबली क्या हैं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आजम खान के बोल पर भड़के गिरिराज सिंह, बोले- चुनाव खत्म होने दो मैं रामपुर आकर बताता हूं बजरंगबली क्या हैं

लखनऊ । लोकसभा चुनावों को लेकर जुबानी जंग को सियासी दलों के नेता और धार देते नजर आ रहे हैं । पिछले दिनों यूपी की रामपुर सीट से सपा-बसपा गठबंधन के उम्मीदवार आजम खान ने बजरंगबली और अली को लेकर छिड़ी बहस के बाद बजरंग अली नाम दे डाला था, जिसके बाद अब बिहार के दबंग नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने आजम खान पर हमला बोला है । उन्होंने कहा कि- आजम खान ने पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गाली दी , अब वह हमारे भगवान को गाली दे रहा है। बेगुसराय के चुनावों के बाद मैं रामपुर आकर बताऊंगा कि बजरंगबली क्या हैं। वहीं इस विवाद में बसपा सुप्रीमो मायावती ने शनिवार को ट्वीट कर कहा कि चुनावी फायदे के लिए 'बजरंगबली और अली' का विवाद पैदा करने वाली ताकतों से सावधान रहने की जरूरत है ।

'मै भी चौकीदार' की तर्ज पर 'मैं भी मुजाहिद' कैंपेन , चुनाव बहिष्कार की अपील

मेरठ से शुरू हुई जुबानी जंग


बता दें कि मेरठ की जनसभा में योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि अगर कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का अली में विश्वास है, तो हमारा बजरंगबली में विश्वास है । उन्होंने कहा  था कि मायावती ने रैली में कहा कि वह सिर्फ मुस्लिम वोटरों का वोट चाहती हैं। ऐसे में योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि दलित-मुस्लिम एकता संभव नहीं है, क्योंकि विभाजन के वक्त दलित नेताओं के साथ पाकिस्तान में किस तरह का बर्ताव हुआ, ये दुनिया ने देखा है।

सर्च ऑपरेशन में जुटे सुरक्षाबलों पर फायरिंग , जवाबी कार्रवाई में जैश का टॉप कमांडर शाहजहां समेत दो आतंकी ढेर

रापुर में आजम खान ने मामला गर्माया

यूपी में सपा-बसपा गठबंधन के टिकट पर रामपुर से लोकसभा उम्मीदवार आजम खान ने शुक्रवार को रामपुर में एक रैली को संबोधित करते हुए ‘बजरंग अली’ का नया नारा दे डाला था। आजम खान ने एक जनसभा में पहुंचे लोगों से 'बजरंग अली' का नारा भी लगवाया। उन्होंने कहा, "आपस के रिश्ते को अच्छा करो, अली और बजरंग में झगड़ा मत कराओ, मैं तो एक नाम देता हूं बजरंग अली। उन्होंने योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधते हुए कहा - मेरा तो दिल कमजोर नहीं हुआ। योगी जी, आपने कहा था कि हनुमान जी दलित थे,  फिर किसी ने कहा हनुमान जी ठाकुर थे। फिर पता चला कि वे ठाकुर नहीं थे, वे जाट थे। इसके बाद किसी ने उन्हें श्रीलंका का बताया । एक मुसलमान एमएलसी ने उन्हें मुसलमान करार दिया । तब जाकर झगड़ा ही खत्म हो गया। अब हम अली और बजरंग एक हैं। इसके बाद उन्होंने कहा "बजरंग अली तोड़ दो दुश्मन की नली, बजरंग अली ले लो जालिमों की बलि ' जैसे नारे लगवाए ।

नीरव मोदी की लग्जरी कारों को ऑनलाइन खरीदने का मौका, जानें कहां-कैसे नीलामी में ले सकेंगे हिस्सा

Todays Beets: