Saturday, June 6, 2020

Breaking News

   उत्तराखंड: कोरोना के 46 नए मामले, कुल पॉजिटिव केस हुए 1199     ||   माले: ऑपरेशन समुद्र सेतु के तहत आईएनएस जलश्व से मालदीव में फंसे 700 भारतीय लाए जा रहे वापस     ||   बिहार: ADG लॉ एंड ऑर्डर ने जताई आशंका, प्रवासियों के आने से बढ़ सकता है अपराध     ||   दिल्ली: बीजेपी के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने संभाला अपना पदभार     ||   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||

LIVE - नवंबर में ही ठिठुरन के लिए रहे तैयार , कश्मीर के कई क्षेत्रों में भारी बर्फबारी जारी , जम्मू - श्रीनगर हाईवे ठप

अंग्वाल न्यूज डेस्क
LIVE - नवंबर में ही ठिठुरन के लिए रहे तैयार , कश्मीर के कई क्षेत्रों में भारी बर्फबारी जारी , जम्मू - श्रीनगर हाईवे ठप

श्रीनगर  । घाटी में इस बार मौसम की मार कुछ अलग ही अंदाज में पड़ी है । कई सालों के बाद इस बार नवंबर में घाटी के कई इलाकों में कल रात से भारी बर्फबारी हो रही है , जिसके चलते श्रीनगर , गुलमर्ग , सौनमर्ग , पहलगाव में करीब 1 फुट तक की बर्फ जमा हो गई है । इतना ही नहीं भारी हिमपात के चलते श्रीनगर हाईवे पर पेड़ सड़कों पर आ गिरे हैं , जिसके चलते जम्मू श्रीनगर हाईवे ठप हो गया है । भारी बर्फबारी के चलते जहां स्थानीय लोगों का जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है , वहीं टेलीफोन सेवा भी पूरी तरह से ठप पड़ गई है । हालांकि इस सब के बीच घाटी में पहुंचे सैलानियों के लिए यह एक सुनहरा मौसम बन गया है , लेकिन किसी भी तरह नवंबर के पहले सप्ताह में बर्फबारी की उम्मीद न रखने वाले स्थानीय लोगों के लिए यह एक बड़ी समस्या बन गई है । 

बता दें कि श्रीनगर , पहलगाम , गुलमर्ग समेत घाटी के कई हिस्सों में बुधवार रात से भारी बर्फबारी हो रही है । गुरुवार को भी बर्फबारी का क्रम जारी है , जिसके चलते स्थानीय लोगों के लिए बड़ा संकट खड़ा हो गया है । भारी बर्फवारी ने घाटी के सभी हाईवे को थाम दिया है। सड़कों पर करीब 1 फुट तक की बर्फ जमा हो गई है । इतना ही नहीं देर रात से जारी भारी बर्फबारी ने श्रीनगर हाईवे के करीब के पेड़ों को जमीनदोंज कर दिया है । सड़कों पर पेड़ गिरे हुए हैं , जिसके चलते जम्मू का श्रीनगर से संपर्क टूट गया है । 

स्थानीय लोगों का कहना है कि नवंबर के पहले सप्ताह में इस तरह की बर्फबारी के बारे में किसी ने नहीं सोचा था । इसलिए लोगों ने बर्फबारी को ध्यान में रखते हुए अपनी तैयारियां भी नहीं की थी , लेकिन बुधवार रात से जारी बर्फबारी ने अब लोगों के लिए नया संकट खड़ा कर दिया है । इस बर्फबारी के चलते पिछले दिनों खोली गई टेलीफोन सेवा एक बार फिर से बंद पड़ गई है , जिसके चलते कुछ इलाकों के लोग शहरों से कट गए हैं। 


बहरहाल ,  देश के पहाड़ी राज्यों में शुरू हुई इस कदर की बर्फबारी के बाद अब मैदानी इलाकों में लोगों को जल्द ठिठुरन का सामना करना पड़ेगा । नवंबर के पहले सप्ताह में इस कदर बर्फबारी के चलते उत्तर भारत के राज्यों में आने वाले दिनों में तापमान में ओर गिरावट दर्ज होगी । 

 

Todays Beets: