Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

भारतीय सेना ने फिर की सर्जिकल स्ट्राइक , इस बार म्यांमार-मिजोरम सीमा पर आतंकी शिविरों को किया नेस्तोनाबूद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भारतीय सेना ने फिर की सर्जिकल स्ट्राइक , इस बार म्यांमार-मिजोरम सीमा पर आतंकी शिविरों को किया नेस्तोनाबूद

नई दिल्ली । पाकिस्तान पोषित आतंकवाद को लेकर सख्त कार्रवाई करने वाली भारतीय सेना ने पीओके में एयरस्ट्राइक को अंजाम देने के बाद एक और सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक , भारतीय सेना ने एक बार फिर से म्यांमार सीमा पर मौजूद आतंकियों के कई ठिकानों को म्यांमार सेना के साथ मिलकर ध्वस्त कर दिया है। असल में म्यांमार का विद्रोही समूह अराकान आर्मी ने मिजोरम सीमा पर अपने कई ठिकाने बनाए हुए थे, जिनके जरिए वे उत्तर पूर्व के लिए बड़े और अहम इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोजेक्‍ट कलादान को निशाना बना रहे थे। अब खबर है कि पीओके में एयरस्ट्राइक के बाद भारतीय सेना ने म्‍यांमार सीमा पर मौजूद इन आतंकियों के ठिकानों को नेस्‍तोनाबूद कर दिया है।

पाकिस्तान की नई 'AirSpace साजिश' से जूझ रहे भारतीय , अमेरिका-यूरोप के व्यापारियों-यात्रियों की भी आफत

मिली जानकारी के अनुसार , म्‍यांमार में सितवे बंदरगाह के जरिये कोलकाता से मिजोरम से जोड़ने वाले और उत्तर पूर्व के लिए बड़े और अहम इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोजेक्‍ट पर म्यांमार के विद्रोही समूह अराकान आर्मी से खतरा था। यह प्रोजेक्ट इन आतंकियों के निशाने पर था। इतना हिी नहीं कलादान मल्टी मॉडल प्रोजेक्ट की तरह भारत की कनेक्टिविटी परियोजनाओं के खिलाफ भी इस आर्मी ने हमले की योजना बनाई थी। इस आर्मी को काचिन इंडिपेंडेंस आर्मी द्वारा नॉर्थ बॉर्डर चीन तक ट्रेनिंग दी गई थी।


LIVE - न्यूजीलैंड की मस्जिदों में लाइव वीडियो बनाते हुए अंधाधुंध फायरिंग , 50 लोगों की मौत , 4 संदिग्ध हिरासत में

सूत्रों के अनुसार, भारतीय और म्यांमार की सेना ने संयुक्त अभियान चलाते हुए दो चरणों में इन आतंकियों के ठिकानों को ध्वस्त किया। सबसे पहले मिजोरम की सीमा पर अराकान आर्मी द्वारा बनाए गए नए शिविरों को ढेर किया गया। इसके बाद टागा में NSCN (K) के मुख्यालय को निशाना बनाने के साथ ही वहां मौजूद कई अन्य शिविरों को भी नष्ट कर दिया।

 

Todays Beets: