Sunday, September 27, 2020

Breaking News

   कप्तान धोनी ने IPL2020 की शुरुआत जीत से की,जानिये कैसे ?     ||   लखनऊ: यूपी में आकाशीय बिजली से हुई मौत के मामले में परिजनों को 4 लाख मुआवजा     ||   कोरोना काल में भाजपा सरकार ने अनेक ख्याली पुलाव पकाए, लेकिन एक सच भी था? -राहुल गांधी     ||   पिछले 6 महीने में भारत-चीन सीमा पर कोई घुसपैठ नहीं: राज्यसभा में गृह मंत्रालय का बयान     ||   राजस्थान: बूंदी में चंबल नदी में नाव डूबने से 6 लोगों की मौत, 12 लोगों को रेस्क्यू किया गया     ||   मुंबई: बच्चन परिवार को अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराएगी मुंबई पुलिस     ||   राज्यसभा में BJP MP विनय सहस्रबुद्धे का बयान, महाराष्ट्र सरकार ही अवैध निर्माण का प्रतीक     ||   ग्रीनलैंड में सबसे बड़ा ग्लेशियर टूटा, चंडीगढ़ के बराबर बर्फ की चट्टान समुद्र में     ||   किसान बिल के विरोध पर बोले नड्डा- कांग्रेस पहले समर्थन में थी, अब राजनीति कर रही     ||   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||

भारत के आर्थिक बहिष्कार से घबराया चीन , 'ड्रैगन' का विदेश मंत्रालय बोला - हम हालात की समीक्षा कर रहे हैं

भारत के आर्थिक बहिष्कार से घबराया चीन ,

नई दिल्ली । चीन के साथ जारी गतिरोध के बीच  भारत सरकार जहां बॉर्डर पर आक्रामक रुख अख्तियार किए हुए हैं , वहीं अब भारत ने चीन पर डिजिटल स्ट्राइक तेज कर दी है । 59 चीनी एप को भारत में प्रतिबंधित करने के बाद अब खबर है कि भारत सरकार कई अन्य ऐसे एप को भी अब प्रतिबंधित करने का फैसला लिया है , जिनका या तो सीधा संबंध चीन से है या अप्रत्यक्ष तौर पर । भारत सरकार के इस फैसले से अब चीन घबरा गया है । चीनी विदेश मंत्रालय ने इस मामले में बयान जारी करते हुए एप पर प्रतिबंध लगाने जाने पर चिंता जताई है । इतना ही नहीं उन्होंने अपने बयान में कहा कि हम हालात की समीक्षा कर रहे हैं ।

बता दें कि चीन के साथ सीमा पर विवाद के बाद भारत में चीन के बॉयकॉट की मांग उठने लगी थी । पूरे देश में चीन के खिलाफ माहौल बना तो संदेश आया कि सीमा पर चीन को बुलेट से लड़ेगें तो देश के भीतर वॉलेट से । इसके साथ ही चीनी सामान को जलाने और चीन के खिलाफ प्रदर्शन का दौर शुरू हुआ । 

इस सबके बाद भारत सरकार ने सोमवार शाम देश में 59 चीनी एप पर प्रतिबंध लगा दिया । इसके साथ ही भारत में चीन के खिलाफ लोगों के खड़े होने से अब चीन घबरा गया है । चीनी विदेश में मंत्रालय की ओर से इस मुद्दे को लेकर बयान जारी किया गया है । उन्होंने भारत सरकार द्वारा चीनी एप पर बैन लगाने को लेकर चिंता जताई है । साथ ही कहा कि वह इस हालात की समीक्षा कर रहे हैं ।  


इससे इतर , टिकटॉक ने एक बयान जारी करते हुए भारत सरकार को अपनी सफाई देना शुरू कर दिया है । टिकटॉक ने अपने बयान में कहा कि हम इस पूरे प्रकरण को लेकर सरकार को सफाई देंगे , हम सभी का डाटा सुरक्षित रखते हैं। हमारी तरफ से कोई जानकारी चीनी सरकार को नहीं दी गई है , हम लोगों की सुरक्षा को प्राथमिकता देते हैं । 

बहरहाल , इन सभी ऐप का डेटा अगले एक- दो दिन में रोक दिया जाएगा । गूगल प्ले स्टोर स्टोर से ये एप हटा दिए गए हैं । लोगों को इनके अपडेट भी नहीं मिलेंगे । आपको बता दें कि ये प्रतिबंध अंतरिम है। अब मामला एक समिति के पास जाएगा । प्रतिबंधित ऐप समिति के सामने अपना पक्ष रख सकती हैं इसके बाद समिति तय करेगी कि प्रतिबंध जारी रखा जाए या हटा दिया जाए ।

 

Todays Beets: