Monday, August 10, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

रेलवे ने आम जनता के लिए बढ़ाई एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं , अब टिकटों में क्यूआर कोर्ड सिस्टम लागू होगा , ये पड़ेगा असर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
रेलवे ने आम जनता के लिए बढ़ाई एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं , अब टिकटों में क्यूआर कोर्ड सिस्टम लागू होगा , ये पड़ेगा असर

नई दिल्ली । कोरोना काल के दौरान भारतीय रेलवे (Indian Railways) सुरक्षा के तमाम नए उपायों को के तहत अपने परिचालन को धीरे धीरे बढ़ाने की रणनीति बना रही है । ऐसी खबरें हैं कि आने वाले दिनों में लोगों को टिकट काउंटर से दूर रखने और ट्रेन में लोगों के बीच जरूरी दूरी को बरकरार रखने के लिए नया नियम लागू करने वाली है । भारतीय रेलवे ने सभी ट्रेन टिकटों में क्यूआर कोड सिस्टम (QR Code System) लागू करने का फैसला किया है । ऐसी सूचना है कि आने वाले समय में आपको ट्रेन में यात्रा करने लिए किसी टिकट की नहीं बल्कि एक क्यूआर कोड (QR Code) की ही जरूरत पड़ेगी ।  

असल में भारतीय रेलवे ने कोरोना महामारी के काल में अब अपने रेलवे स्टेशन को भी एयरपोर्ट की तरह हाईटैक बनाने की जुगत तेज कर दी है । अब देश के रेलवे स्टेशनों में एयरपोर्ट की ही तर्ज पर रेलवे (Railway) भी क्यूआर कोड वाले संपर्क रहित टिकट (Contactless Tickets) देने की योजना बना रहा है । इन्हें स्टेशन और ट्रेनों पर मोबाइल फोन से स्कैन किया जा सकेगा । 


इस पूरे मामले पर रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वी के यादव ने कहा कि वर्तमान में ट्रेन के 85 प्रतिशत टिकट ऑनलाइन बुक होते हैं और काउंटर से टिकट खरीदने वालों के लिए भी क्यूआर कोड की व्यवस्था की जाएगी । ऐसी स्थिति में हमने एयरपोर्ट की तर्ज पर क्यूआर कोड प्रणाली की शुरुआत की है , जो टिकट पर दिए जाएंगे । वह लोग जो ऑनलाइन टिकट खरीदते हैं उनपर क्यूआर कोड होगा , वहीं टिकट खिड़की से जब कागज वाला टिकट दिया जाएगा , तो उस दौरान उसके मोबाइल (Smart phone) पर एक संदेश भेजा जाएगा , जिसमें क्यूआर कोड का लिंक होगा । इस लिंक को खोलने पर कोड दिखेगा । 

वीके यादव ने कहा कि आने वाले समय में रेलवे स्टेशन या ट्रेन पर टीटीई (TTE) के पास उपकरण होगा , जिससे यात्री के टिकट का क्यूआर कोड स्कैन होगा।  हालांकि पूरी तरह कागज रहित होने के लिए रेलवे अभी योजना बना रही है ।  धीरे धीरे रेलवे की सभी प्रक्रियाओं को कागज रहित बनाया जाएगा । हमने कोलकाता मेट्रो की ऑनलाइन रिचार्ज सुविधा शुरू कर दी गई है । एयरपोर्ट की भांति सभी यात्रियों के लिए स्टेशन पर प्रवेश करते ही संपर्क रहित टिकट की जांच करने की प्रक्रिया प्रयागराज जंक्शन स्टेशन पर शुरू की गई है । यादव ने कहा कि आईआरसीटीसी की वेबसाइट का पूरी तरह नवीनीकरण किया जाएगा और प्रक्रिया को सरल, सुविधाजनक बनाया जाएगा और होटल और भोजन की बुकिंग के साथ जोड़ा जाएगा । 

Todays Beets: