Thursday, January 23, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

अमेरिका से युद्ध की आशंका के बीच ईरान के राजदूत बोले , शांति के लिए भारत की पहल का स्वागत करेंगे

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अमेरिका से युद्ध की आशंका के बीच ईरान के राजदूत बोले , शांति के लिए भारत की पहल का स्वागत करेंगे

नई दिल्ली । अमेरिका और ईरान के बीच जहां युद्ध की स्थिति पैदा हो गई है , वहीं ईरान ने ऐसे हालात में भारत से शांति की पहल करने की अपील की है । भारत में ईरानी  राजदूत ने बुधवार को कहा - उना देश(ईरान) अमेरिका-ईरान के बीच तनाव को कम करने को लेकर भारत की किसी भी शांति पहल का स्वागत करेगा। उन्होंने कहा कि भारत ने पिछले कुछ सालों में दुनिया में शांति बनाए रखने को लेकर कई बहुत अच्छी भूमिका निभाई हैं । भारत ईरान का अच्छा दोस्त है । ऐसे में हम आशा करते हैं कि ठीक उसी तरह भारत का इस क्षेत्र से संबंध भी है। हम सभी देशों के, विशेषकर भारत एक अच्छा दोस्त के रूप में उसकी किसी भी पहल का हम स्वागत करेंगे, जिससे तनाव को कम किया जा सके।

भारत में ईरान के राजदूत अली चेगेनी ने दिल्ली उनके दूतावास में जनरल सुलेमानी के लिए एक शोकसभा के बाद संवाददाताओं से बातचीत में ये बातें कहीं । उन्होंने कहा, 'हम युद्ध नहीं चाहते हैं। हम इस क्षेत्र में हर किसी के लिए शांति और समृद्धि की कोशिश कर रहे हैं। हम किसी भी भारतीय पहल या किसी भी परियोजना का स्वागत करते हैं जो इस दुनिया में शांति और समृद्धि में मदद कर सके। 

हालांकि, इस दौरान ईरानी राजदूत ने सीधे शब्दों में अमेरिका के साथ शांति की पहल को लेकर भारत की मदद नहीं मांगी है लेकिन भारत में ईरान के राजदूत के बयान से साफ दिखता है कि उन्होंने इस बात से इन्कार भी नहीं किया है।


बता दें कि ईरानी राजदूत का ऐसा बयान उस समय आया है जब मंगलवार देर रात ईरान ने इराक में दो अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर बेलिस्टिक मिसाइल से हमले किए । इस हमले में 80 जवानों के मारे जाने का दावा किया जा रहा है । ईरान का कहना है कि उन्होंने यह हमले अपनी आत्मसुरक्षा के लिए किए हैं । 

बता दें, सुलेमानी की हत्या से बढ़े अमेरिका-ईरान तनाव के बीच विदेश मंत्री एस जयशंकर ने रविवार को अपने ईरानी समकक्ष जावेद ज़रीफ़ और अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ के साथ बातचीत की। 

Todays Beets: