Wednesday, July 17, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

तीन तलाक के नए बिल पर जदयू का विरोध , कहा- सरकार सभी पक्षों की सहमति से बनाए आम राय

अंग्वाल न्यूज डेस्क
तीन तलाक के नए बिल पर जदयू का विरोध , कहा- सरकार सभी पक्षों की सहमति से बनाए आम राय

पटना । लोकसभा में शुक्रवार को कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने तीन तलाक बिल पेश किया । हालांकि इस दौरान कांग्रेस समेत कुछ अन्य विपक्षी दलों ने इस बिल के नए ड्राफ्ट का विरोध जताया और उसे संविधान और मुस्लिम लोगों के विरोध में करार दिया । इस सब के बीच एनडीए के सहयोगी घटक दल जेडीयू ने भी इस बिल को लेकर विरोध दर्ज कराया है । बिल पेश करने के साथ ही  बिल के मौजूदा स्वरूप को लेकर जदयू के प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए इस बिल का समर्थन नहीं करने की बात कही ।

उन्होंने कहा कि जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने लॉ कमीशन को इस बारे में बताया था । उन्होंने कहा क्योंकि यह मामला काफी नाजुक है, इसलिए इसमें सभी पक्षों से बात कर आम सहमति बनाने की कोशिश करनी चाहिए ।  उन्होंने कहा कि इस बिल के बारे में एनडीए में कभी कोई चर्चा नहीं हुई।

कर्नाटक की JDS - CONGRESS सरकार गिन रही 'अंतिम सांसें' , देवगौड़ा बोले- सरकार कब तक चलेगी कुछ पता नहीं


वहीं योग दिवस के कार्यक्रम में जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार के शामिल नहीं होने पर केसी त्यागी ने कहा कि यह कोई एनडीए का कार्यक्रम नहीं है । योग तो महज व्यायाम है. इसमें जो शामिल होना चाहते हैं उनका भी स्वागत, जो अनुपस्थित होना चाहते हैं उनका भी स्वागत । इतना ही नहीं उन्होंनेन बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी के ट्वीट पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी । उन्होंने कहा कि इस तरह की गलतियां जानबूझकर नहीं की जाती है । सुशील मोदी पढ़े-लिखे व्यक्ति हैं। भूल से हो गई होगी गलती । ज्ञात हो कि सुशील मोदी के ट्विटर हैंडल से जारी ट्वीट में उनके पद में मुख्यमंत्री लिख दिया गया था । बाद में उसे हटा लिया था।

Loksabha Live - हंगामे के साथ कानून मंत्री ने लोकसभा में फिर पेश किया तीन तलाक बिल

 

Todays Beets: