Monday, March 30, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

कमलनाथ सरकार को बड़ी राहत , आज नहीं होगा फ्लोर टेस्ट , 26 मार्च तक विधानसभा हुई स्थगित

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कमलनाथ सरकार को बड़ी राहत , आज नहीं होगा फ्लोर टेस्ट , 26 मार्च तक विधानसभा हुई स्थगित

भोपाल । मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार पर छाए संकट के बादल कुछ दिनों के लिए छट गए हैं , हालांकि संकट अभी भी बरकरार है । असल में सोमवार सुबह मध्य प्रदेश विधानसभा की कार्यवाही को आगामी 16 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया गया है । राज्यपाल लालजी टंडन ने अपने अभिभाषण में कहा कि सभी सदस्यों को शुभकामना के साथ सलाह देना चाहता हूं कि प्रदेश की जो स्थिति है, उसमें अपना दायित्व शांतिपूर्ण तरीके से निभाएं ।  उन्होंने कहा - जैसे ही अपनी बात पूरी की तो विधानसभा में हंगामा हुआ । तबीयत खराब होने की वजह से राज्यपाल ने अपना पूरा भाषण नहीं पढ़ा, वह सिर्फ अभिभाषण की पहली और आखिरी लाइन ही पढ़ पाए । राज्यपाल लालजी टंडन ने अपने अभिभाषण में विधायकों से नियम का पालन करने को कहा ।

बता दें कि कांग्रेस के 22 विधायकों ने इस्तीफा देने की बात कही है, जिसके बाद से कमलनाथ सरकार पर संकट बरकरार है । सोमवार को सीएम कमलनाथ को फ्लोर टेस्ट की परीक्षा से गुजरना पड़ सकता था लेकिन मध्य प्रदेश विधानसभा की कार्यवाही को कोरोना वायरस के चलते स्थगित किया गया । 


इस सबके बाद अब सबकी नजर राज्य के विधानसभा स्पीकर एनपी प्रजापति पर है । क्योंकि क्या आज ही फ्लोर टेस्ट होगा, इसपर फैसला स्पीकर ही ले सकते हैं । इससे पहले , मुख्यमंत्री कमलनाथ की तरफ से राज्यपाल लालजी टंडन को चिट्ठी लिख कर अवगत कराया गया है कि मौजूदा स्थिति में फ्लोर टेस्ट नहीं कराया जा सकता है । कमलनाथ ने आरोप लगाया है कि भाजपा ने कांग्रेस के कई विधायकों को कर्नाटक में बंदी बना लिया है । 

Todays Beets: