Wednesday, April 1, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

SC LIVE - कोर्ट में कांग्रेस के वकील बोले - दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है , ऐसे में फ्लोर टेस्ट करवाया जाना जरूरी है ?

अंग्वाल न्यूज डेस्क
SC LIVE - कोर्ट में कांग्रेस के वकील बोले - दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है , ऐसे में फ्लोर टेस्ट करवाया जाना जरूरी है ?

नई दिल्ली । मध्य प्रदेश में जारी सियासी हंगामे के बीच मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है, जहां कमलनाथ सरकार के फ्लोर टेस्ट को लेकर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान की दायर याचिका पर सुनवाई हो रही है। कांग्रेस के वकील की ओर से  सुप्रीम कोर्ट में तर्क दिया है कि इस मामले को संवैधानिक पीठ के पास भेजना चाहिए , क्योंकि मध्य प्रदेश जैसी स्थिति इससे पहले कर्नाटक और गुजरात में भी आ चुकी है । दुष्यंत दवे ने इस दौरान सुप्रीम कोर्ट में गुजरात में हुए राज्यसभा चुनाव का हवाला दिया । इसके साथ ही कांग्रेस के वकील की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दलील दी गई है कि अभी दुनिया मानवता के सबसे बड़े संकट कोरोना से जूझ रही है, ऐसे में क्या इस वक्त बहुमत परीक्षण कराना जरूरी है? अब इस मामले पर सुनवाई दोपहर बात होगी । इससे पहले कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह को हिरासत में लिए जाने पर राज्यसभा में जमकर हंगामा हुआ ।

फ्लोर टेस्ट संबंधी याचिका पर सुनवाई जारी

बता दें कि मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार पर गहराए संकट के बादल एक बार फिर से गहरा गए हैं । पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान की फ्लोर टेस्ट संबंधी याचिका पर सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में जारी है । भाजपा नेता ने अदालत में गुहार लगाकर कमलनाथ सरकार का बहुमत परीक्षण जल्द करवाने की मांग की है. दूसरी ओर मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री कमलनाथ और राज्यपाल लालजी टंडन के बीच चिट्ठियों का आदान-प्रदान जारी है । 


कांग्रेस और भाजपा के वकील आमने सामने

सुप्रीम कोर्ट में मध्य प्रदेश के मसले पर कांग्रेस और भाजपा के वकील आमने-सामने आ गए हैं । भाजपा की ओर से पेश हो रहे मुकुल रोहतगी के कोर्ट को इंतजार कराने पर कांग्रेस के वकील दुष्यंत दवे ने कहा कि आप अदालत को 50 मिनट इंतजार करवा रहे हैं और बीच में आकर टोक भी रहे हैं । फिर आप अपने आप को देश का बड़ा वकील बता रहे हैं । वहीं सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई शुरू होते ही मुकुल रोहतगी की ओर से कहा गया कि वो AGR के मामले में सुनवाई के लिए जाना चाहते हैं, जिसके बाद अदालत ने उनकी बात मान ली ।  अब मध्य प्रदेश के मसले पर दोपहर बाद सुनवाई होगी ।  

Todays Beets: