Tuesday, July 16, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

मरीना बीच पर ही होगा करुणानिधि का अंतिम संस्कार, चेन्नई की सड़कों पर उमड़ा जनसैलाब

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मरीना बीच पर ही होगा करुणानिधि का अंतिम संस्कार, चेन्नई की सड़कों पर उमड़ा जनसैलाब

नई दिल्ली। तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम करुणानिधि का देर शाम निधन हो गया था। उनके अंतिम संस्कार को लेकर उठे विवाद को मद्रास हाईकोर्ट ने खत्म कर दिया है। कोर्ट ने कहा कि करुणानिधि का अंतिम संस्कार मरीना बीच पर ही किया जाएगा। बता दें कि इससे पहले सिर्फ पदासीन मुख्यमंत्री को  ही उनके निधन पर मरीना बीच पर अंतिम संस्कार की इजाजत दी गई थी। डीएमके ने कोर्ट में याचिका दायर कर कहा था कि मरीना बीच पर ही उन्हें अंतिम संस्कार की इजाजत दी जाए लेकिन तमिलनाडु सरकार ने ऐसा करने से इंकार कर दिया था। फिलहाल मद्रास हाईकोर्ट द्वारा इजाजत दिए जाने से डीएमके के समर्थकों को काफी राहत मिली है।

गौरतलब है कि चेन्नई की सड़कों पर अपने नेता को श्रद्धांजलि देने के लिए जनसैलाब उमड़ गया है। प्रशासन ने सुरक्षा के इंतजाम को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है। हालांकि बेकाबू समर्थकों पर नियंत्रण करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज भी करना पड़ा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी करुणानिधि को आखिरी विदाई देने  के लिए चेन्नई पहुंच चुके हैं उनके साथ रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद हैं। 


ये भी पढ़ें - राज्यसभा उपसभापति के लिए जोर आजमाइश तेज, कांग्रेस ने बीके हरिप्रसाद को बनाया उम्मीदवार 

यहां बता दें कि इससे पहले पूर्व मुख्यमंत्री एमजी रामचंद्रन और जयललिता का ही अंतिम संस्कार मरीना बीच पर किया गया है क्योंकि वे निधन के समय भी मुख्यमंत्री के पद पर आसीन थे। डीएमके समर्थकों ने 5 बार के मुख्यमंत्री रह चुके एम करुणानिधि का अंतिम संस्कार मरीना बीच पर ही करने की मांग की थी। अब मद्रास हाईकोर्ट के फैसले के बाद ऐसी उम्मीद जताई जा रही है कि देर शाम  तक उनका अंतिम संस्कार कर दिया जाएगा।  

Todays Beets: