Thursday, July 18, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

ममता बनर्जी ने विधायकों से कहा, अपनी गलतियों के जनता से मांगे माफी , पार्टी नेताओं को दिए 7 कॉरपोरेट मंत्र

अंग्वाल न्यूज डेस्क
ममता बनर्जी ने विधायकों से कहा, अपनी गलतियों के जनता से मांगे माफी , पार्टी नेताओं को दिए 7 कॉरपोरेट मंत्र

नई दिल्‍ली । लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार को भाजपा द्वारा दिए गए झटके के बाद तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता ने आगामी विधानसभा चुनावों के लिए अपनी रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है । 2021 में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले शुक्रवार को ममता ने राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर से मुलाकात की । इसके बाद ममता ने पार्टी भवन में अपने विधायकों और नेताओं के साथ एक बैठक की, जिसमें उन्होंने अपने नेताओं से कहा कि अगर आप कोई गलती करते हैं तो उसके लिए जनता से माफी भी मांगे । इतना ही नहीं ममता बनर्जी ने पार्टी विधायकों संग बैठक में उन्हें 7 अहम ' कॉरपोरेट मंत्र ' भी दिए । 

बता दें कि लोकसभा चुनावों में भाजपा द्वारा पश्चिम बंगाल में अपना जनाधार बढ़ाए जाने से तृणमूल कांग्रेस प्रमुख चिंतित हैं । ऐसे में 2021 में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर उन्होंने अभी से रणनीति बनाना शुरू कर दिया है । इस सब के बीच उन्होंने राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर से मुलाकात की और बाद में अपने विधायकों नेताओं के साथ एक बैठक की । हालांकि इस बैठक से प्रशांत किशोर को दूर ही रखा गया । इस दौरान ममता बनर्जी ने अपने विधायकों को कुछ कॉरपोरेट मंत्र दे डाला । 

बैठक में ममता बनर्जी ने अपने विधायकों और नेताओं से कहा...

1- उन्होंने कहा कि पार्टी के विधायक और नेता राज्य में किसी भी विवाद से दूर रहें। इतना ही नहीं कोशिश करें कि अपने इलाकों में राजनीतिक हिंसा को कम कर सकें । 

2-उन्होंने सभी नेताओं से कहा कि अब सभी लोग चुनाव के माहौल से बाहर आ जाएं , चुनाव खत्म हो चुके हैं । अपने इलाके में जाएं और जनप्रतिनिधि के तौर पर उनकी समस्याओं का निदान करें। अपने विधानसभा क्षेत्र में जाकर वहां सप्ताह भर का समय दें। 


3. अगर आप लोगों से किसी तरह की कोई गलती हो गई है तो आप लोगों से उसके लिए मॉफी मांगें । नाराज लोगों के साथ बैठें और उनसे साथ बात करते हुए विवादित मुद्दों को सुलझाएं । 

4. जनता और सरकार अधिकारियों से प्रति अपना व्यवहार ठीक करें । किसी तरह के विवाद में न पड़ें और अगर पहले से विवादों में हैं तो उससे बाहर निकलें।

5- किसी मुद्दे को सुलझाने के लिए प्रशासन और पुलिस पर निर्भर न रहें । अपने राजनीति काम और राजनीति लड़ाई को खुद लड़ें । 

6-ममता ने विधायकों से कहा कि किसी भी मुद्दे पर ऐसा बयान न दें तो न्यायसंगत न हो । न तो गलत बयानबाजी करें और न ही किसी मुद्दे पर विवादित टिप्‍पणी दें । इतना ही नहीं अगर कोई नेता विधायक राज्य से बाहर कहीं किसी प्रकार की यात्रा पर जा रहा है तो अपनी जानकारी पार्टी को दें । 

7- उन्होंने विधायकों से कहा- प्रत्‍येक विधानसभा में 4 सदस्‍यीय कमेटी बनाएं । इसमें एक सोशल मीडिया सदस्‍य, विधायक का एक प्रतिनिधि और एक बूथ डेवलपमेंट मैनेजर शामिल हो । 

Todays Beets: