Saturday, August 8, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

मणिपुर में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के उग्रवादियों ने किया जवानों पर घात लगाकर हमला , 3 शहीद - 6 घायल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मणिपुर में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के उग्रवादियों ने किया जवानों पर घात लगाकर हमला , 3 शहीद - 6 घायल

नई दिल्ली । भारत-म्यांमार सीमा पर उग्रवादी समूहों के खिलाफ ऑपरेशन के दौरान बुधवार देर रात सेना के जवानों पर घात लगाकर हमला किया गया , जिसमें सेना के 3 जवान शहीद हो गए, जबकि 6 घायल हो गए हैं । मणिपुर के इंफाल से करीब 90 किलोमीटर दूरी चंदेल जिले में हुई इस घटना में उग्रवादियों ने इस वारदात को अंजाम दिया है । हमले में घायलों को इंफाल पश्चिम जिले के मिलिट्री अस्पताल में भर्ती कराया गया है , जिनमें से तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है ।

बता दें कि मणिपुर (Chandel Manipur) में सेना (Indian Army ) की एक टीम पर घात लगाकर हमला किया गया है । हमले को स्थानीय समूह पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के उग्रवादियों ने अंजाम दिया है । घात लगाकर किए गए इस हमले में 4 असम राइफल्स यूनिट ( 4 Assam Rifles unit) के तीन जवान शहीद हो गए और 6 घायल हुए हैं। 

मिली जानकारी के अनुसार , उग्रवादियों ने पहले  IED विस्फोट किया और फिर सैनिकों पर गोलीबारी की । इम्फाल से 100 किमी दूर उस क्षेत्र में रइंफोर्समेंट भेजी गई है । 


विदित हो कि गत नवंबर में चंदेल जिले में ही असम राइफल्स के कैंप पर उग्रवादियों ने हमला किया था । उग्रवादियों ने सैन्य कैंप में बम फेंके थे । इसके बाद दोनों ओर से गोलीबारी हुई थी । इस हमले में कोई जवान हताहत नहीं हुआ था , लेकिन जवानों की जवाबी कार्रवाई के बाद उग्रवादी पहाड़ियों की ओर भाग गए थे ।

 

Todays Beets: