Monday, August 26, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

मनमोहन सिंह राजनीतिक करियर को धार देने पहुंचे जयपुर , राजस्थान से राज्यसभा चुनाव के लिए करेंगे नामांकन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मनमोहन सिंह राजनीतिक करियर को धार देने पहुंचे जयपुर , राजस्थान से राज्यसभा चुनाव के लिए करेंगे नामांकन

जयपुर । केंद्र में दो बार अपनी सरकार बनाने वाले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपनी राजनीतिक पारी को नई धार देने के लिए एक बार फिर से राज्यसभा सदस्य के तौर पर संसद जाने के लिए नामांकन दाखिल की प्रकिया शुरू की है । इसी कड़ी में वह मंगलवार को जयपुर पहुंचे । असल में राजस्थान प्रदेश इकाई के अध्यक्ष मदनलाल सैनी का निधन होने जाने से राज्यसभा में एक सीट रिक्त हो गई है । ऐसे में इस सीट के लिए उपचुनाव होना है , जिसमें कांग्रेस के पास पर्याप्त संख्या बल होने के चलते उनकी जीत निश्चित है । हालांकि भाजपा ने अभी तक अपनी ओर से किसी प्रत्याशी की घोषणा भी नहीं की है । 

सुप्रीमकोर्ट LIVE : कोर्ट ने पूछा- बताएं कहां है राम का जन्मस्थान ? रामलला के वकील बोले - ठीक बाबरी मस्जिद की गुंबद के नीचे

विदित हो कि 200 सदस्यों वाली राजस्थान विधानसभा में कांग्रेस के पास 100 विधायक हैं। इसके साथ ही उनके पास 12 निर्दलीयों तथा बहुजन समाज पार्टी (BSP) के छह विधायकों का समर्थन भी है । ऐसे में डॉ. मनमोहन का फिर से राज्यसभा में जाना तय है । ऐसा इसलिए भी कहा जा रहा है क्योंकि राज्य के प्रमुख विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी (BJP) के पास सिर्फ 73 विधायक हैं । शायद यही कारण है कि भाजपा ने अभी तक अपना कोई उम्मीदवार भी मैदान में नहीं उतारा है । 


बता दें कि पिछले तीन दशक के दौरान यह पहला मौका है जब मनमोहन सिंह संसद में नहीं है । पिछले राज्यसभा चुनावों में कांग्रेस मनमोहन सिंह के लिए सीट पक्की नहीं कर पाई थी । सीट पक्की न होने की स्थिति में विपक्षी दलों ने भी मनमोहन सिंह के राजनीतिक करियर को खत्म मान लिया था ,  लेकिन एक बार फिर से वह राज्यसभा में जाने के लिए जयपुर नामांकन करने पहुंचे । 

GOLD 40 हजारी होने के करीब , 12 दिनों में बढ़ गए 2750 रुपये , निवेश हो सकता है लाभदायक

 

Todays Beets: