Tuesday, June 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

लोकसभा चुनावों से पहले मायावती ने फिर चल दिया 'मास्टरस्टोक' , भाजपा समेत सपा-कांग्रेस को लगेगा झटका

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लोकसभा चुनावों से पहले मायावती ने फिर चल दिया

नई दिल्ली ।  लोकसभा चुनावों के मद्देनजर सभी राजनीतिक पार्टियां इन दिनों अपनी अचूक रणनीति बनाने में जुटी हैं। इस सब के बीच बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती ने आम चुनावों से पहले एक बार फिर से मास्टरस्टोक लगाते हुए केंद्र और यूपी में सत्तारूढ़ भाजपा समेत कांग्रेस-सपा को भी करारा झटका लगाने की तैयारी की है। असल में अब तक पिछड़े वर्गों की रणनीति करने वाली मायावती ने अनुसूचित जाति/जनजाति संवोधन विधेयक में संशोधन का स्वागत करने के साथ ही केंद्र के सामने नया पासा फेंक दिया है। उन्होंने एक नया मुद्दा उठाते हुए अब उन्होंने गरीब मुसलमानों के लिए अलग से आरक्षण की मांग कर डाली है। आर्थिक आधार पर अल्पसंख्यकों को आरक्षण दिए जाने की मांग का समर्थन करने के साथ ही उन्होंने मिशन -2019 को लेकर अन्य दलों की रणनीति पर पानी फेरने की योजना बनाई है।

दलितों के भारत बंद के आह्वान को दिया श्रेय

मायावती ने एससी-एसटी विधेयक में संसोधन का स्वागत करते हुए एकाएक आम चुनावों से पहले एक नया सियासी मुद्दा उठा दिया है। लोकसभा में पास हुए संशोधन विधायक का स्वागत करते हुए उन्होंने इसके राज्यसभा में भी पास होने की संभावना जताई। साथ ही इस सब का श्रेय अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को दिया। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों दलितों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा है। लेकिन दलितों ने 2 अप्रैल को जिस भारत बंद का आह्वान किया था ये उसका ही  नतीजा है कि केंद्र सरकार को मजबूर होना पड़ा। 

संसदीय दल की बैठक में राहुल ने साधा पीएम पर निशाना, कहा- उनकी चुप्पी देश के लिए खतरनाक


केंद्र पर साधा  निशाना

विधेयक  में संसोधन का स्वागत करने के साथ ही मायावती ने सत्तारूढ़ भाजपा पर निशाना भी साधा है। उन्होंने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि जब दलित इस मुद्दे को लेकर 2 अप्रैल को सड़कों पर उतरे थे तो केंद्र सरकार के दलित और आदिवासी मंत्री इस मुद्दे पर चुप बैठ गए थे। लेकिन हमारी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सरकार को मजबूर किया और आज नतीता सबके सामने है।

आतंकियों ने एक और एसपीओ के घर में घुसकर की अंधाधुंध फायरिंग, बाल-बाल बचा 

Todays Beets: