Monday, August 26, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा ने गृहमंत्री को लिखा खत, वॉयस संदेश में कहा- जानवरों की तरह कैद किया गया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा ने गृहमंत्री को लिखा खत, वॉयस संदेश में कहा- जानवरों की तरह कैद किया गया

श्रीनगर । जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 लागू किए जाने के बाद से अबतक घाटी में धारा  144 के साथ ही कई पाबंदियां जारी हैं। राज्य के दो पूर्व मुख्यमंत्रियों के साथ ही सियासी पार्टियों के कुछ नेता या तो नजरबंद हैं या गिरफ्तार हैं । इस सब के बीच महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा जावेद ने एक वॉयस मैसेज जारी किया है । इसमें उन्होंने कहा है कि उसे भी हिरासत में लिया गया और उसे धमकी दी गई कि अगर उसने दोबारा मीडिया से बात की तो इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे।  इल्तिजा ने कहा कि उसने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर स्पष्टीकरण मांगा है । 

चीफ जस्टिस ने अनुच्‍छेद -370 हटाने की याचिका वाले वकील को फटकारा , कहा- यह क्‍या बकवास अर्जी है

बता दें कि पिछले दिनों अपनी मां की गिरफ्तार के बार से इल्तिजा जावेद सुर्खियों में आई थीं, जब उन्होंने अपनी मां महबूबा मुफ्ती से बात नहीं होने का बयान दिया था । इसके बाद एक बार फिर से वह सुर्खियों में हैं। कारण है उनका एक वाइस मैसेज । इतना ही नहीं उनका कहना है कि उन्होंने गृहमंत्री अमित शाह को भी एक खत लिखा है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि आज जब बाकी देश भारत का स्वतंत्रता दिवस मना रहा है, कश्मीरियों को जानवरों की तरह कैद कर दिया गया और उन्हें बुनियादी मानवाधिकारों से वंचित किया गया है।

इसी क्रम में इल्जिता ने अपने वॉयस मैसेज में कहा- मुझे भी हिरासत में लिया गया है और कहा गया है कि ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि मैंने मीडिया से बात की थी । मुझे धमकाया गया कि अगर मैंने दोबारा मीडिया से बात की तो इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे । मेरे साथ अपराधी की तरह बर्ताव किया जा रहा है और मुझ पर लगातार निगरानी रखी जा रही है । जिन कश्मीरियों ने आवाज उठाई है, उनके साथ मैं भी जान का खतरा महसूस कर रही हैं।


इससे पहले इल्तिजा ने व्हाट्सएप पर कहा था कि दो दिन से उन्हें हिरासत में ले लिया गया है. यहां ऐसे हालात कर दिए गए हैं कि किसी को घर से बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है । यहां मास हाउसअरेस्ट किया गया है। मैं चाहती हूं कि मीडिया को पता चले कि यहां क्या हो रहा है, चल क्या रहा है? हमारे गृहमंत्री गलत बोल रहे हैं कि फारूक अब्दुल्ला और बाकी नेताओं को नजरबंद नहीं किया गया है। बिल्कुल नजरबंद किया गया है। सज्जाद लोन, इमरान अंसारी, मेरी मां और उमर अब्दुल्ला को हिरासत में लिया गया है।

विदित हो कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद महबूबा मुफ्ती और नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला को पहले नजरबंद किया गया और फिर उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया । पिछले दिनों दोनों में काफी बहसबाजी और हाथापाई होने तक नौबत आने पर दोनों को अब अलग अलग गेस्ट हाउस में रखा गया है । 

UNSC में कश्मीर मुद्दे पर 48 साल बाद दूसरी बैठक आज , PAK के पक्ष में सिर्फ चीन- पौलेंड , अन्य देशों ने दिखाया ठेंगा 

Todays Beets: