Thursday, January 23, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

कश्मीर में कई इलाकों में बर्फीला तूफान , सौनमर्ग में हिमस्खलन के चलते 5 लोगों की मौत , कुपवाड़ा में 3 जवान शहीद

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कश्मीर में कई इलाकों में बर्फीला तूफान , सौनमर्ग में हिमस्खलन के चलते 5 लोगों की मौत , कुपवाड़ा में 3 जवान शहीद

श्रीनगर । जम्मू कश्मीर में पिछले कुछ दिनों से जारी भारी हिमपात के बाद मंगलवार सुबह आए बर्फीले तूफान की चपेट में आने से गुलमर्ग के सौनमर्ग इलाके में 5 लोगों की मौत हो गई है । इन लोगों के शवों को निकालने का काम शुरू हो गया है । वहीं कुपवाड़ा के गांदरबल में हुए हिमस्खलन के चलते 3 जवान शहीद हो गए हैं । इसी क्रम में एक जवान अभी भी लापता है । वहीं कई जवानों को इस हिमस्खलन से बचा लिया गया है। मिली जानकारी के अनुसार, पिछले 48 घंटों में हुई भारी बर्फबारी के कारण, उत्तरी कश्मीर में कई जगह हिमस्खलन की घटनाएं सामने आई हैं ।

मिली खबरों के अनुसार , मध्य कश्मीर के गांदरबल जिले में सोनमर्ग के गग्गेनेर क्षेत्र के पास कुलान गांव में हिमस्खलन की चपेट में आने से 5 लोगों की मौत हो गई है । इसी क्रम में इलाके के कई घर भी इस हिमस्खलन की चपेट में आकर क्षतिग्रस्त हो गए हैं । इलाके में आए बर्फीले तूफान और हिमस्खलन के चलते सेना ने इस इलाके में भी अपना बचाव अभियान शुरू कर दिया है । यह इलाका श्रीनगर से सड़क से कटा हुआ है, यही कारण है कि बचाव दल को यहां पैदल ही पहुंचना पड़ा है। 


इससे पहले भी 7 जनवरी को जम्मू और कश्मीर में एलओसी के पास पुंछ जिले में हिमस्खलन हुआ था, जिसमें सेना के एक पोर्टर की मौत हो गई, वहीं तीन अन्य पोर्टर घायल हो गए थे। गत 3 दिसंबर 2019 को उत्तरी कश्मीर में LOC के पास हिमस्खलन की दो अलग-अलग घटनाओं में सेना के चार जवान शहीद हो गए थे । कश्मीर के तंगधार सेक्टर में सेना की एक चौकी मंगलवार को हिमस्खलन की चपेट में आ गई थी, जिसमें तीन सैनिक शहीद हो गए थे। इससे पहले गुरेज सेक्टर में एक गश्ती दल बर्फीले तूफान में फंस गया था और सेना का एक जवान शहीद हो गया था।  

Todays Beets: