Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

 टेरर फंडिंग मामले में एनआईए का दिल्ली के कई ठिकानों पर छापा, लाखों रुपये, मोबाइल और दस्तावेज किया जब्त

अंग्वाल न्यूज डेस्क
 टेरर फंडिंग मामले में एनआईए का दिल्ली के कई ठिकानों पर छापा, लाखों रुपये, मोबाइल और दस्तावेज किया जब्त

नई दिल्ली। टेरर फंडिंग के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने पाकिस्तानी आतंकी हाफिज सईद के संगठन फलह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) के दिल्लाी स्थित कई ठिकानों पर छापेमारी की है। खबरों के अनुसार एनआईए ने यह कार्रवाई हिलाल अहमद राथर के लाजपत नगर स्थित आवास और ऑफिस परिसरों पर की गई है। बता दें कि वह मूल रूप से श्रीनगर का रहने वाला है। एनआईए ने छापेमारी के दौरान उसके घर से 18 लाख रुपये नकद, 6 मोबाइल फोन, सिम और कई अहम दस्तावेज जब्त किए गए हैं।

गौरतलब है कि राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने इस संगठन के खिलाफ 2 जुलाई 2018 को आतंकी फंडिंग करने के लेकर कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था। इसके बाद हुई जांच में पता चला कि नई दिल्ली के निजामुद्दीन निवासी मोहम्मद सलमान लगातार दुबई स्थित एक पाकिस्तानी नागरिक के संपर्क में था और बाद में उसका संपर्क एफआईएफ के डिप्टी चीफ से हो गया। गौर करने वाली बात है कि फलह-ए-इंसानियत फाउंडेशन लश्कर ए तैयबा का ही मुखौटा है।

ये भी पढ़ें - संयुक्त राष्ट्र में भारत की बड़ी जीत, सबसे ज्यादा अंतर से मानवाधिकार परिषद का बना सदस्य 


यहां बता दें कि हवाला के जरिए इसके पास पैसा आता था जिसका इस्तेमाल देश में आतंकी गतिविधियों को बढ़ावा देने में किया जाता था। आपको बता दें कि 2010 में अमेरिका ने इस संगठन को आतंकी संगठनों की सूची में शामिल किया था। इस मामले में अब तक दिल्ली के मोहम्मद सलमान, मोहम्मद सलीम और श्रीनगर निवासी सज्जाद अहमद वानी को गिरफ्तार किया गया है।

 

Todays Beets: