Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को मिली नई जिम्मेदारी, बने मोदी सरकार के सबसे ताकतवर नौकरशाह

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को मिली नई जिम्मेदारी, बने मोदी सरकार के सबसे ताकतवर नौकरशाह

नई दिल्ली। देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को अतिरिक्त जिम्मेदारी दी है। रणनीतिक नीति समूह (स्ट्रैटिजिक पॉलिसी ग्रुप) यानी एसपीजी के कैबिनेट सचिव के बदले अब वो इसकी अध्यक्षता करेंगे। कैबिनेट सचिव उनके द्वारा लिए गए फैसलों को अमल में लाने के लिए विभिन्न मंत्रालयों और विभागों के बीच समन्वय स्थापित करेंगे। इस नई जिम्मेदारी के बाद डोभाल मोदी सरकार में सबसे ज्यादा शक्तिशाली नौकरशाहों में शामिल हो गए हैं। 

गौरतलब है कि एसपीजी का गठन 1999 में बाहरी, आंतरिक और आर्थिक सुरक्षा के मामलों में राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससी) की मदद के लिए किया गया था। अब तक इसकी बैठक की अध्यक्षता कैबिनेट सचिव किया करते थे जो सबसे वरिष्ठ होते थे। अब मोदी सरकार ने एक नए फैसले के तहत यह जिम्मेदारी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को सौंप दी है। 

ये भी पढ़ें - आम्रपाली ग्रुप को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, पुलिस ने 3 डायरेक्टरों को कस्टडी में लिया


यहां बता दें कि मोदी सरकार ने 11 सितंबर को इस संबंध में अधिसूचना जारी की थी और 8 अक्टूबर को गजट प्रकाशित किया था। अधिसूचना के मुताबिक, अब राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार को इस समूह का चेयरमैन घोषित किया गया है। एसपीजी में पहले 16 सदस्य थे जिसे बढ़ाकर अब 18 कर दी गई है। इसमें कैबिनेट सचिव के साथ ही नीति आयोग के उपाध्यक्ष को भी शामिल किया गया है। 

गौर करने वाली बात है कि एसपीजी में तीनों सेनाओं के सेनाध्यक्ष, आरबीआई गवर्नर, गृह सचिव, वित्त सचिव, रक्षा सचिव, विदेश सचिव और इंटेलिजेंस ब्यूरो के प्रमुख शामिल हैं।

Todays Beets: