Monday, July 22, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में ‘पिता-पुत्र’ को मिली राहत, 8 अक्टूबर तक गिरफ्तारी पर लगी अंतरिम रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
एयरसेल-मैक्सिस डील मामले में ‘पिता-पुत्र’ को मिली राहत, 8 अक्टूबर तक गिरफ्तारी पर लगी अंतरिम रोक

नई दिल्ली। एयरसेल-मैक्सिस डील में मामले में फंसे पूर्व वित्त मंत्री पी चिदम्बरम और उनके बेटे कार्ति चिदम्बरम को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद इस मामले में उनकी गिरफ्तारी पर 8 अक्टूबर तक रोक लगा दी गई है। वहीं इस मामले में कोर्ट ने कार्ति चिदम्बरम को भी राहत दी है। बता दंे कि इस मामले में पी चिदंबरम पर पद पर रहते हुए इन कंपनियों को फायदा पहुंचाने का आरोप लगा है।

गौरतलब है कि एयरसेल-मैक्सिस डील के मामले में कार्ति चिदंबरम के द्वारा इन कंपनियांे को फायदा पहुंचाने के लिए अपने रसूख का इस्तेमाल करने और करोड़ों रुपये कमीशन लेने का आरोप है। इस मामले पर पिछले काफी समय से कोर्ट में बहस चल रही है। मंगलवार को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई करने के बाद 8 अक्टूबर तक पिता-पुत्र की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। 

ये भी पढ़ें - यूपी पुलिस बनी 'सुपारी किलर' , पैसों के बदले एकाउंटर करने की हामी भरने वाले 3 पुलिसकर्मी निलं...


यहां बता दें कि एयरसेल-मैक्सिस मामला वर्ष 2006 में ग्लोबल कम्युनिकेशन होल्डिंग सर्विसेस लिमिटेड को एयरसेल में निवेश करने के लिए विदेशी निवेश संवर्द्धन बोर्ड से अनुमति दिलाए जाने से जुड़ा है। इस मामले में कोर्ट ने पिछली सुनवाई मंे कार्ति चिदंबरम की एजेंसी के साथ 4 अन्य लोगों के नामों को जोड़ा था। 

 

Todays Beets: