Friday, September 25, 2020

Breaking News

   कप्तान धोनी ने IPL2020 की शुरुआत जीत से की,जानिये कैसे ?     ||   लखनऊ: यूपी में आकाशीय बिजली से हुई मौत के मामले में परिजनों को 4 लाख मुआवजा     ||   कोरोना काल में भाजपा सरकार ने अनेक ख्याली पुलाव पकाए, लेकिन एक सच भी था? -राहुल गांधी     ||   पिछले 6 महीने में भारत-चीन सीमा पर कोई घुसपैठ नहीं: राज्यसभा में गृह मंत्रालय का बयान     ||   राजस्थान: बूंदी में चंबल नदी में नाव डूबने से 6 लोगों की मौत, 12 लोगों को रेस्क्यू किया गया     ||   मुंबई: बच्चन परिवार को अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराएगी मुंबई पुलिस     ||   राज्यसभा में BJP MP विनय सहस्रबुद्धे का बयान, महाराष्ट्र सरकार ही अवैध निर्माण का प्रतीक     ||   ग्रीनलैंड में सबसे बड़ा ग्लेशियर टूटा, चंडीगढ़ के बराबर बर्फ की चट्टान समुद्र में     ||   किसान बिल के विरोध पर बोले नड्डा- कांग्रेस पहले समर्थन में थी, अब राजनीति कर रही     ||   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||

मोदी के दावों पर राहुल गांधी के सवाल - अगर हमारी जमीन पर कब्जा हुआ ही नहीं तो जवान कैसे मारे गए

अंग्वाल न्यूज डेस्क
मोदी के दावों पर राहुल गांधी के सवाल - अगर हमारी जमीन पर कब्जा हुआ ही नहीं तो जवान कैसे मारे गए

नई दिल्ली । चीन मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक करने के बाद पीएम मोदी ने अपने संबोधन में घटनाक्रम की विस्तार से जानकारी दी । इस दौरान उन्होंने साफ किया कि न लेह-लद्दाख इलाके में कोई हमारी सीमा में घुसा हुआ है, न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है । पीएम मोदी के इस बयान के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने फिर से पीएम मोदी और उनकी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि पीएम ने चीनी आक्रमण के सामने भारतीय क्षेत्र का आत्मसमर्पण कर दिया है। उन्होंने लिखा - अगर वह भूमि चीनी थी तो , हमारे सैनिकों को क्यों मारा गया, असल में वे कहां मारे गए थे । 


विदित हो कि पीएम मोदी ने शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक के बाद कहा था कि हमारी सेनाएं, सीमाओं की रक्षा करने में पूरी तरह सक्षम हैं । उन्होंने कहा - न तो वहां कोई हमारी सीमा में घुसा हुआ है और न ही हमारी कोई पोस्ट किसी दूसरे के कब्जे में है । लद्दाख में हमारे 20 जांबाज शहीद हुए लेकिन जिन्होंने भारत माता की तरफ आंख उठाकर देखा था, उन्हें वो सबक सिखाकर गए ।

पीएम ने कहा - डेवलपमेंट हो, एक्शन हो, काउंटर एक्शन हो, जल-थल-नभ में हमारी सेनाओं को देश की रक्षा के लिए जो करना है, वो कर रही है । आज हमारे पास ये क्षमता है कि कोई भी हमारी एक इंच जमीन की तरफ आंख उठाकर भी नहीं देख सकता । आज भारत की सेनाएं, अलग-अलग सेक्टर्स में, एक साथ मूव करने में भी सक्षम है ।

इस दौरान उन्होंने सभी राजनीतिक दलों को आश्वस्त करते हुए कहा - बीते वर्षों में देश ने अपनी सीमाओं को सुरक्षित करने के लिए, बॉर्डर एरिया में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट को प्राथमिकता दी है । हमारी सेनाओं की दूसरी आवश्यकताओं, जैसे फाइटर प्लेन, आधुनिक हेलीकॉप्टर, मिसाइल डिफेंस सिस्टम आदि पर भी हमने बल दिया है । नए बने हुए इंफ्रास्ट्रक्चर की वजह से खासकर एलएसी में अब हमारी पेट्रोलिंग की क्षमता भी बढ़ गई है । 

Todays Beets: