Thursday, July 18, 2019

Breaking News

   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||   नीरज शेखर के इस्तीफे पर बोले रामगोपाल यादव- गुरु होने के नाते आशीर्वाद दे सकता हूं     ||   लखनऊ: खनन घोटाले में ED ने पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति से पूछताछ की     ||   पोंजी घोटाला: पूछताछ के बाद बोले रोशन बेग- हज पर नहीं जा रहा, जांच में करूंगा सहयोग    ||    संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने कहा- जरूरत पड़ी तो सत्र बढ़ाया जा सकता है     ||   केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया- सुप्रीम कोर्ट में जजों की कमी नहीं    ||    AAP नेता इमरान हुसैन ने बीजेपी नेता विजय गोयल और मनजिंदर सिंह सिरसा के खिलाफ की शिकायत    ||   राहुल गांधी के इस्तीफे पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा- जय श्रीराम    ||   यूपी सरकार का 17 जातियों को SC की लिस्ट में डालने का फैसला असंवैधानिक: थावर चंद गहलोत    ||

राहुल गांधी ने खारिज की अशोक गहलोत की अपील , कहा - मैं आपको अपना रुख स्पष्ट कर चुका हूं

अंग्वाल न्यूज डेस्क
राहुल गांधी ने खारिज की अशोक गहलोत की अपील , कहा - मैं आपको अपना रुख स्पष्ट कर चुका हूं

नई दिल्ली । लोकसभा चुनावों में मिली हार के बाद से काग्रेस इन दिनों अपने भीतर घमासान से ही जूझ रही है । पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी अपने पद से इस्तीफे की जिद पर अड़ गए हैं। उन्होंने कई मौकों पर अपना रुख स्पष्ट कर दिया है । इस सब के बीच सोमवार को राहुल गांधी के काफी करीबी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कुछ ट्वीट करते हुए राहुल गांधी को कांग्रेस के लिए अहम करार दिया है । राहुल गांधी के आवास पर सोमवार दोपहर बाद आयोजित कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक को लेकर किए गए ट्वीट में अशोक गहलोत ने लिखा कि मौजूदा हालात में राहुल गांधी ही कांग्रेस को संभाल सकते हैं। लेकिन गहलोत के इस ट्वीट पर राहुल गांधी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह अपना रुख पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं, वह उसमें कोई बदलाव करने नहीं जा रहे हैं।

बजट 2019 - 20 : इनकम टैक्स छूट के दायरे में आ सकता है होम लोन का इंश्योरेंस : सूत्र

बता दें कि लोकसभा चुनावों के बाद से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी ही पार्टी के कई नेताओं के रुख से खासे नाराज हैं। उन्होंने सरेआम नेताओं का नाम लेते हुए कह दिया था कि नेता अपने बेटे-बेटियों को टिकट दिलवाने में जुटे रहे और किसी ने जिम्मेदारी से अपना काम नहीं किया । इतना ही नहीं उन्होंने अपने पद से इस्तीफा देने के ऐलान के बाद युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से मुलाकात के दौरान कहा कि मेरे इस्तीफा देने के बावजूद भी कोई सीएम , महासचिव , पार्टी के पदाधिकारी इस हार की जिम्मेदारी लेने को तैयार नहीं न ही कोई अपनी जिम्मेदारी समझ रहा है ।

मायावती 17 OBC जातियों के SC में शामिल किए जाने पर भड़कीं , बोलीं- सपा की तरह योगी सरकार भी दे रही धोखा

राहुल गांधी के इस बयानों के बाद उनके प्रति समर्थन और समर्पण दिखाते हुए करीब 120  पदाधिकारियों ने अपना इस्तीफा राहुल गांधी को सौंप दिया था । इस सब के बावजूद राहुल गांधी को मनाने का दौर चल रहा है । राहुल गांधी ने पार्टी की कई अहम बैठकों ने इस बात का ऐलान कर दिया है कि अब न तो वह पार्टी अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे न ही प्रियंका को इस पद के लिए नामित किया जाए । इस बार गांधी परिवार से बाहर का शख्स पार्टी की कमान संभाले ।इसी क्रम में राहुल गांधी के करीबी लोगों में शुमार अशोक गहलोत ने सोमवार को एक के बाद एक चार ट्वीट किए । उन्होंने राहुल गांधी के प्रति अपनी और पार्टी के पदाधिकारियों की आस्था का जिक्र करते हुए लिखा कि इस मुश्किल दौर में वही पार्टी को उबार सकते हैं। देखिए अपने ट्वीट में क्या कहा गहलौत ने ....

सुब्रमण्मय स्वामी पीएम मोदी से नाराज , बोले - मेरे सुझावों को नहीं मिली तवज्जो , मैं चीन जा सकता हूं

 

बहरहाल , इन ट्वीट के बाद राहुल गांधी ने फिर से अपने रुख को स्पष्ट करते हुए साफ कर दिया है कि वह किसी भी सूरत में अपना इस्तीफा वापस नहीं लेने वाले । उन्होंने अशोक गहलोत को संबोधित करते हुए अपने बयान में कहा कि मैं पहले भी आपको अपने फैसले से अवगत करा चुका हूं अब मैं इससे पलटने वाला नहीं हूं ।

 

 

 

Todays Beets: