Thursday, June 27, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

अलर्ट - घाटी मे लोकसभा चुनाव प्रभावित करने के लिए आतंकियों की तीन टीमें सक्रिय , सैन्य ठिकानों- रैलियों निशाने पर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अलर्ट - घाटी मे लोकसभा चुनाव प्रभावित करने के लिए आतंकियों की तीन टीमें सक्रिय , सैन्य ठिकानों- रैलियों निशाने पर

नई दिल्ली । जम्मू कश्मीर समेत देश में लोकसभा चुनावों को प्रभावित करने के लिए आतंकी संगठनों ने एक बार फिर से वारदातों को अंजाम देने के लिए साजिश रची है । खुफिया एजेंसियों की ओर से जारी हुए अलर्ट के मुताबिक , आतंकियों की तीन टीमें इस काम के लिए घाटी में सक्रिय हो गई हैं। इनसे से कई आतंकी अफगानिस्तान मूल के हैं, जो बम एक्सपर्ट भी हैं। इतना ही नहीं इन आतंकियों के निशाने पर सैन्य ठिकानों के साथ ही सेना के काफिले और चुनावी रैलियां समेत नेता , सार्वजनिक स्थान हैं। इस सब के के बीच सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया है । साथ ही हर संदिग्ध गतिविधि को गंभीरता से लेने के लिए कहा गया है।

बता दें कि इस समय सुरक्षा बल लोकसभा चुनावों के मद्देनजर घाटी समेत देश में इधर उधर गतिविधियां कर रहे हैं। इसी बीच खुफिया एजेंसियों ने अलर्ट जारी किया है कि घाटी में विदेशी आतंकी के साथ तीन टीमें बनाई गई हैं जो आतंकी वारदातों को अंजाम देने के लिए सक्रिय हो गई हैं। आतंकियों की ये टीमें सैन्य सुरक्षा ठिकानों के साथ ही सेना के काफिलों को अपना निशाना बना सकते हैं। इतना ही नहीं सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट किया गया है कि वह सार्वजनिक स्थानों पर भी कड़ी चौकसी बरतें , आतंकी जम्मू बस अड्डे पर पूर्व में किए गए ग्रेनेड हमले के साथ ही पुलवामा जैसे आतंकी हमलों को अंजाम देने की फिराक में हैं।


इस बार खास बात यह है कि इन आतंकियों की तीन टीमों में इस बार विदेशी आतंकी भी हैं, जिनमें से कुछ बस एक्सपर्ट भी हैं। ये लोग चुनावी रैलियों को भी प्रभावित करके लोकसभा चुनावों को प्रभावित करने की साजिश रच रहे हैं।

 

Todays Beets: