Thursday, January 23, 2020

Breaking News

   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||   रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की सुरक्षा में चूक, मोटरसाइकिल काफिले के सामने आया शख्स     ||

स्टिंग के हिंसा की बात कबूलने वाला JNU का छात्र अक्षत बोला- वो तो मैंने शेखी बघारने के लिए झूठ बोला

अंग्वाल न्यूज डेस्क
स्टिंग के हिंसा की बात कबूलने वाला JNU का छात्र अक्षत बोला- वो तो मैंने शेखी बघारने के लिए झूठ बोला

नई दिल्ली । जेएनयू हिंसा को लेकर न्यूज चैनल आजतक के स्टिंग ऑपरेशन में वामपंथी छात्रों पर हमले की बड़ी बड़ी बातें करने वाले अक्षत अवस्थी अब अपनी बात से पलट गए हैं । अक्षत ने बाहरी छात्रों की मदद से मारपीट करने की बात पहले तो कबूली लेकिन स्टिंग के न्यूज चैनल पर प्रसारित होने और दिल्ली पुलिस की ओर से जांच में उसे शामिल किए जाने के बयान के बाद अक्षत ने अपने बयान से पलटी मार ली है। स्टिंग ऑपरेशन में सच सामने आने पर अक्षत ने कहा कि वह तो महज शेखी बखारने के लिए ऐसा बोल गए । उसका सच से कोई वास्ता नहीं है।  

बता दें कि न्यूज चैनल आजतक ने अपने एक स्टिंग ऑपरेशन में जेएनयू हिंसा के पीछे का सज उजागर करने का दावा किया । इस दौरान एक स्टिंग ऑपरेशन में उन्होंने दिखाया कि जेएनयू में फ्रेंच डिग्री प्रोग्राम के प्रथम वर्ष के छात्र अक्षत अवस्थी अंडरवकर रिपोर्टर से कह रहा है कि उसने बाहरी लोगों के साथ मिलकर वामपंथी छात्रों पर हमला किया । लेकिन बाद में पुलिस द्वारा यह बयान दिए जाने की उसे भी अब जांच में शामिल किया जाएगा , तो अक्षत पलट गया। उसने कहा- वह केवल शेखी बघारने के ऐसा कह रहा था, जो वीडियो में सामने आया है । अपने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) का कार्यकर्ता होने का दावा करने वाले अक्षत ने यू टर्न लेते हुए कहा है कि उसका एबीवीपी से कोई संबंध नहीं है । वह इस संगठन का सदस्य तक नहीं है । हालांकि अक्षत ने पहले खुद को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) का कार्यकर्ता बताया था । 

विदित हो कि कावेरी हॉस्टल में रहने वाले अक्षत ने दावा किया था कि जेएनयू में हिंसा के लिए उसने ही दक्षिणपंथी रूझान के बाहरी छात्रों को एकत्रित किया था ।  हिंसा के वीडियो में हाथ में लाठी लिए नजर आए अवस्थी ने पेरियार हॉस्टल के बाहर लगे झंडे से इसे निकालने की जानकारी देते हुए बड़ी शान के साथ कहा था कि उसे हॉस्टल कॉरिडोर में गुस्से से इधर- उधर भागते, दरवाजों को पीटते और रास्ते में आने वाले हर शख्स को मारते देखा जा सकता है ।


बाद में अवस्थी ने कहा था कि बढ़ी हुई दाढ़ीवाले एक आदमी को उसने पीटा और लात मारकर दरवाजा तोड़ दिया, जो कश्मीरी जैसा दिख रहा था ।इतना ही नहीं उसने नकाबपोश कई लोगों की पहचान करने के साथ ही हमले की योजना, भीड़ जुटाने आदि अन्य पहलुओं की भी जानकारी दी थी । 

बहरहाल , अब यह मामला आने वाले दिनों में और गर्माने वाला है । दिल्ली पुलिस के आरोपों को जेएनयू छात्र संगठन ने खारिज कर दिया है । उन्होंने पुलिस पर पक्षपात पूर्ण रवैये वाली जांच करने का भी आरोप लगाया है । 

Todays Beets: