Saturday, October 19, 2019

Breaking News

   दिल्ली में भी भोपाल जैसा हनी ट्रैप , कई रईसजादों को विदेशी लड़कियों की मदद से फंसाया    ||   घाटी में घनघटाने लगीं मोबाइल फोन की घंटियां, इंटरनेट पर अभी भी प्रतिबंध    ||   इकबाल मिर्ची की इमारत में प्रफुल्ल पटेल का भी फ्लैट , ईडी ने भेजा समन    ||   रणवीर सिंह ने ठुकराया संजय लीला भंसाली की फिल्म का ऑफर , आलिया भट्ट हैं फिल्म की हिरोइन    ||   वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पति ने भी माना- अर्थव्यवस्था की हालत खराब     ||   दिल्ली में डेंगू ने तोड़ा रिकॉर्ड, इस हफ्ते में 111 नए मामले आए सामने     ||   अगस्ता वेस्टलैंड मनी लॉन्ड्रिंग केस: 25 अक्टूबर तक बढ़ी रतुल पुरी की न्यायिक हिरासत     ||   तमिलनाडु: मसाले की फैक्ट्री में लगी आग, मौके पर दमकल की गाड़ियां मौजूद     ||   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||

सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद पर सुनवाई , कोर्ट ने मध्यस्थता कमेटी को अपनी रिपोर्ट 18 जुलाई तक सौंपने को कहा

अंग्वाल संवाददाता
सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या विवाद पर सुनवाई , कोर्ट ने मध्यस्थता कमेटी को अपनी रिपोर्ट 18 जुलाई तक सौंपने को कहा

नई दिल्ली । सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद की जल्द सुनवाई की मांग संबंधी अर्जी पर सुनवाई की । इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले को लेकर गठित की गई मध्यस्थता समिति से कहा कि वह इस मामले को लेकर अपनी रिपोर्ट आगामी 18 जुलाई तक सौंपे । हालांकि इससे पहले समिति ने कोर्ट को अवगत करवाया था कि वह इस मामले में एकमत बनाने में असफल रहे हैं। इस सब के बाद अब कोर्ट ने कहा आपकी जो भी राय है वह अपनी रिपोर्ट के माध्यम से कोर्ट तक पहुंचाएं । चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की संवैधानिक पीठ ने सुनवाई के दौरान कहा कि अगर मध्यस्थता से कोई हल नहीं निकलता है तो हम इस मामले की रोजाना सुनवाई पर विचार करेंगे । मामले की अगली सुनवाई 25 जुलाई को होगी ।

सुप्रीम कोर्ट का बागी विधायकों को आदेश - कर्नाटक के स्पीकर से मिलें, स्पीकर को कहा- आज ही लें इस्तीफों पर फैसला

बता दें कि हिन्दू पक्षकार गोपाल सिंह विशारद ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित समिति द्वारा राम मंदिर निर्माण को लेकर कोई ठोस परिणाम नहीं आने की स्थिति में कोर्ट से मुख्य मामले पर जल्द सुनवाई की मांग की है । याचिकाकर्ता ने कोर्ट से अपील की थी कि वह इस मामले को लेकर दिए गए मध्‍यस्‍थता आदेश को वापस ले लें । पिछली सुनवाई में कमेटी ने मध्यस्थता प्रक्रिया के लिए अतिरिक्त समय की मांग की थी । कोर्ट ने कमेटी को 15 अगस्त तक का समय दिया था ।


बुलंदशहर DM अभय सिंह के घर से बरामद हुए 47 लाख रुपये नकद , पहली पत्नी से तलाक के बाद रहे थे डिप्रेशन में

निर्मोही अखाड़ा ने गोपाल सिंह की याचिका का समर्थन किया । निर्मोही अखाड़े की ओर से कहा गया कि मध्यस्थता प्रकिया सही दिशा में आगे नहीं बढ़ रही है । इससे पहले अखाड़ा मध्यस्थता प्रकिया के पक्ष में था । हालांकि मुस्लिम पक्षकारों की ओर से अधिवक्ता राजीव धवन ने इसका विरोध किया था।

Todays Beets: