Tuesday, June 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

आम्रपाली ग्रुप को ‘सुप्रीम’ झटका, दिल्ली-एनसीआर के 7 और बिहार के 2 आॅफिस को सील करने का आदेश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
आम्रपाली ग्रुप को ‘सुप्रीम’ झटका, दिल्ली-एनसीआर के 7 और बिहार के 2 आॅफिस को सील करने का आदेश

नई दिल्ली।  खरीदारों के साथ धोखाखड़ी करने वाले आम्रपाली ग्रुप पर सुप्रीम कोर्ट ने अपना शिकंजा और कस दिया है। बुधवार को कोर्ट ने खरीदारों के समय पर फ्लैट न देने के मामले में कंपनी कर दिल्ली, नोएडा और ग्रेटर नोएडा के उन 7 जगहों को सील करने के आदेश दिए हैं जहां इनके कागजात रखे हुए हैं। अदालत ने बिहार पुलिस को राजगीर और बक्सर के ऑफिस को भी सील करने के आदेश दिए हैं। इससे पहले मंगलवार को खरीदारों से धोखाधड़ी करने के आरोप में सीएमडी अनिल शर्मा समेत तीन निदेशकों को गिरफ्तार करने का आदेश दिया था जिसके बाद तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया था। 

गौरतलब है कि आम्रपाली ग्रुप ने बड़ी संख्या में खरीदारों से रकम लेकर उन्हें तय वक्त पर फ्लैट नहीं दिए। इससे नाराज लोगों ने कोर्ट का रुख किया था। अब सुप्रीम कोर्ट ने नोएडा एवं ग्रेटर नोएडा में समूह की 7 संपत्तियों को सील करने का आदेश दिया जहां समूह की 46 कंपनियों से संबंधित दस्तावेज रखे हुए हैं। 


ये भी पढ़ें - बैंकों की खस्ताहाली और कर्ज लेकर देश से भागने वालों के लिए यूपीए जिम्मेदार- निर्मला सीतारमण

गौर करने वाली बात है कि आम्रपाली के तीनों निदेशकों ने सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका में कहा था कि उन्हें जेल में ना रखा जाए, उन्होंने न्यायालय से आग्रह किया था कि उन्हें घर या किसी गेस्ट हाउस में रखा जा सकता है। आपको बता दे कि याचिका में यह भी कहा गया कि वो रात को ऑडिटर्स को कागजात देना चाहते थे लेकिन वो उपलब्ध नहीं थे। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इन 9 जगहों को सील कर चाबी सुप्रीम कोर्ट के रजिस्ट्रार को दी जाएगी। बड़ी बात यह है कि न्यायमूर्ति यू यू ललित और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने समूह की बिहार के बक्सर एवं राजगीर में भी दो संपत्तियों को सील करने का आदेश दिया है।

Todays Beets: