Monday, August 26, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

यादों में सुषमा स्वराज : महज 25 साल की उम्र में संभाले 8 मंत्रालय , कई कीर्तिमानों के लिए हमेशा याद करेगा देश

अंग्वाल न्यूज डेस्क
यादों में सुषमा स्वराज : महज 25 साल की उम्र में संभाले 8 मंत्रालय , कई कीर्तिमानों के लिए हमेशा याद करेगा देश

नई दिल्ली । महज 25 वर्ष की आयु में कैबिनेट मंत्री बनने वाली भाजपा की दमदार नेत्री सुषमा स्वराज का 67 वर्ष की आयु में हार्ट अटैक से निधन हो गया, जिसके बाद पूरे देश में शोक की लहर दौड़ पड़ी है । सुषमा स्वराज पिछले कुछ समय से बीमार चल रही थी, जिसके चलते उन्होंने इस बार के लोकसभा चुनाव नहीं लड़ने का भी ऐलान किया था । हालांकि उन्हें अंतिम बार सार्वजनिक समारोह में पिछले महीने विश्व हिंदू परिषद के एक कार्यक्रम में  देखा गया था , जिसके बाद उनका एक बयान मंगलवार शाम उस समय देखने में आया था , जब उन्होंने जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने पर आभार प्रकट किया था । हालाकि सुषमा स्वराज ने अपने राजनीतिक करियर में ऐसे कई कीर्तिमान बनाए , जिसके चलते उन्हें देश हमेशा याद रखेगा । 

मनोकामना पूरी होने के बाद सुषमा स्वराज को आया हार्ट अटैक , निधन से पहले खुद ट्वीट कर लिखी थी 'मन की बात '

25 साल की उम्र में संभाले 8 मंत्रालय

बता दें कि अपने राजनीति करियर के अंतिम दिनों ने उन्होंने एक इतिहास बनाते हुए देश की पहली महिला विदेश मंत्री बनने का खिताब भी हासिल किया था , हालांकि वर्ष 1977 में जब वह 25 साल की थीं, तब वह भारत की सबसे कम उम्र की कैबिनेट मंत्री बनी थीं । वर्ष 1977 से 1979 के दौरान पर सामाजिक कल्याण, श्रम और रोजगार जैसे 8 मंत्रालय संभाल रहीं थीं। हालांकि 27 साल की उम्र में 1979 में वह हरियाणा में जनता पार्टी की प्रदेश अध्यक्ष बनीं । 

पहली महिला मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय पार्टी की महिला वक्ता


सुषमा स्वराज के नाम अगर कीर्तिमानों की बात करें तो वह पहली ऐसी महिला थीं, जिन्हें किसी पार्टी की महिला प्रवक्ता होने का गौरव प्राप्त हुआ था । वह भी एक राष्ट्रीय पार्टी की । इसके साथ ही वह दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं । इतना ही नहीं  केंद्रीय कैबिनेट मंत्री और विपक्ष की पहली महिला नेता थीं ।

दुखद - पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का निधन , दिल का दौरा पड़ने के बाद एम्स में ली अंतिम सांस

जब चुनाव लड़ीं जीतीं

विदित हो कि इंदिरा गांधी के बाद सुषमा स्वराज ही दूसरी ऐसी महिला थीं, जिन्होंने विदेश मंत्री का पद संभाला था । हालांकि सुषमा स्वराज पूर्णरूप से विदेशमंत्री रहीं । बीते चार दशकों में वे 11 चुनाव लड़ीं, जिसमें तीन बार विधानसभा का चुनाव लड़ीं और जीतीं । सुषमा 7 बार सांसद रह चुकी थीं ।

 

Todays Beets: