Monday, August 26, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

उन्नाव रेप : कोर्ट ने भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर पर पॉक्सो एक्ट के तहत आरोप तय किए 

अंग्वाल संवाददाता
उन्नाव रेप : कोर्ट ने भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर पर पॉक्सो एक्ट के तहत आरोप तय किए 

नई दिल्ली । उत्तर प्रदेश के उन्नाव रेप केस में शुक्रवार को दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर आरोप तय कर दिए हैं। कोर्ट ने विधायक कुलदीप सेंगर पर IPC की धारा 120b, 363, 366, 109, 376(i) और पॉक्सो एक्ट 3&4 के तहत आरोप तय किए हैं । इससे पहले हुई सुनवाई के दौरान cbi ने जज से कहा था कि उनकी जांच में साफ हो गया था कि कुलदीप सिंह सेंगर पर 4 जून 2017 को पीड़िता के साथ बलात्कार करने और शशि सिंह के साजिश में शामिल होने के आरोप सही हैं । इसी के आधार पर कोर्ट में चार्जशीट दायर की गई थी, जिसके बाद अब आरोप तय कर दिए गए हैं।

तीस हजारी कोर्ट में उन्नाव रेप और दुर्घटना संबंधी मामले की सुनवाई जारी है। शुक्रवार को कोर्ट द्वारा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ आरोप तय किए , हालांकि इससे पहले सीबीआई ने तीस हजारी कोर्ट में बताया था कि शशि सिंह ही वह शख्स है , जो पीड़िता को नौकरी दिलाने के बहाने कुलदीप सिंह सेंगर के घर ले गया था । पीड़िता ने सीबीआई को जो बयान दिए उसको सीबीआई ने जज के सामने रखा था। 


CBI ने कोर्ट को बताया है कि पीड़िता ने नौकरी के लिए विधायक के घर जाने की बात किसी को नहीं बताई थी । वारदात के दौरान घर पर कोई नहीं था । शशि उसे पीछे के दरवाजे से घर के अंदर ले गया । जैसे ही पीड़िता उसके घर के अंदर प्रवेश कर रही थी, तभी कुलदीप सिंह सेंगर ने उसे दिखाई दिया, उसने पीड़िता का हाथ खींचा और कमरे के अंदर ले गया था । 

सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को आदेश दिया कि पीड़िता के परिवार वालों के रहने की उचित व्यवस्था एम्स के आस-पास की जाए । साथ ही सीबीआई से गवाहों की सुरक्षा पर सील बंद रिपोर्ट मांगी गई है । 

Todays Beets: