Wednesday, April 21, 2021

Breaking News

   कोरोनाः यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लगाई गई वैक्सीन     ||   महाराष्ट्रः वसूली केस की होगी सीबीआई जांच, फडणवीस बोले- अनिल देशमुख दें इस्तीफा     ||   ड्रग्स केस में गिरफ्तार अभिनेता एजाज खान कोरोना पॉजिटिव, NCB टीम का भी होगा टेस्ट     ||   मथुराः लेफ्टिनेंट जनरल मनोज कुमार कटियार बने वन स्ट्राइक कोर के कमांडर     ||   कर्नाटकः भ्रष्टाचार के मामले की जांच पर स्टे, सीएम येदियुरप्पा को SC ने दी राहत     ||   छत्तीसगढ़ः नक्सल के खिलाफ लड़ाई अब निर्णायक चरण में, हमारी जीत निश्चित है- अमित शाह     ||   यूपीः पंचायत चुनाव में 5 से अधिक लोगों के साथ प्रचार करने पर रोक, कोरोना के कारण फैसला     ||   स्विटजरलैंड में चेहरा ढकने पर लगाई गई पाबंदी , मुस्लिम संगठनों ने जताई आपत्ति     ||   सिंघु बॉर्डर के नजदीक अज्ञात लोगों ने रविवार रात की हवाई फायरिंग, पुलिस कर रही छानबीन     ||   जम्मू कश्मीर - प्रोफेसर अब्दुल बरी नाइक को पुलिस ने किया गिरफ्तार, युवाओं को बरगलाने का आरोप     ||

फेसबुक ने विकसित की आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक, यूजर्स को आत्महत्या से बचाएगा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फेसबुक ने विकसित की आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस तकनीक, यूजर्स को आत्महत्या से बचाएगा

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर आत्महत्या के लाइव वीडियो के मामले के बाद फेसबुक ने इससे बचाव के तरीके निकालने के काम को तेज कर दिया है। फेसबुक ने एक ऐसा साॅफ्टवेयर, 'आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस' तैयार किया है जो आत्महत्या करने वाले यूजर्स के पोस्ट को स्कैन करने का काम शुरू कर दिया है। अमेरिका में इस साॅफ्टवेयर का परीक्षण भी कर लिया हैै। अब वह इसके विस्तार पर काम कर रहा है।

मानसिक सुविधा

आपको बता दें कि फेसबुक ने अपनी वाॅल पर आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के जरिए उन पोस्ट की स्कैनिंग करना शुरू कर दिया है जो आत्महत्या के विचारों से प्रेरित थी। अब इस साॅफ्टवेयर के विस्तार का काम शुरू कर दिया है। इसके जरिए वह दूसरे देशों के यूजर्स की उन पोस्टों की खोज करेगी जिनमें आत्महत्या जैसे विचार आ रहे हों। फेसबुक ने यह भी कहा कि जरूरत पड़ने पर वह यूजर्स को मानसिक शांति की सुविधा भी उपलब्ध कराएगी। हालांकि फेसबुक ने इस साॅफ्टवेयर को लेकर फिलहाल अधिक तकनीकी जानकारी मुहैया नहीं कराई है।


ये भी पढ़ें - ग्राहकों की होगी बल्ले-बल्ले, एयरटेल ने लाॅन्च किया ‘सबकुछ मिलेगा-सबको मिलेगा प्लान’

एआई तकनीक

आपको बता दें कि फेसबुक उपाध्यक्ष गेयेई रोजेन ने बताया कि अमेरिका में इस साॅफ्टवेयर का परीक्षण सफल  रहा है। रोजेन के मुताबिक कंपनी अब उन देशों में सबसे पहले विस्तार कार्यक्रम के तहत काम करना शुरू करेगी जहां सबसे अधिक आत्महत्याएं होती हैं इनमें विकसित देश खासतौर पर शामिल हैं। फेसबुक का दावा है कि वह ‘एआई’ तकनीकी द्वारा यूजर्स की उन सभी पोस्टों की पहचान कर लेगी जिन में आत्महत्या की आशंका वाले विचार शामिल हों। 

Todays Beets: