Sunday, January 17, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

चुनाव में डाटा लीक से सुरक्षा के लिए शुरू की हाॅट लाइन सर्विस, नेताओं को सिखाया जाएगा अकाउंट सुरक्षित रखने के गुर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चुनाव में डाटा लीक से सुरक्षा के लिए शुरू की हाॅट लाइन सर्विस, नेताओं को सिखाया जाएगा अकाउंट सुरक्षित रखने के गुर

नई दिल्ली। डाटा लीक होने के मामले के बीच फेसबुक ने भारतीय नेताओं को बड़ी राहत दी है। फेसबुक ने भारतीय नेताओं के लिए ई-मेल आधारित खास फीचर ‘साइबर थ्रेट क्राइसिस’ का ऐलान किया है। इस फीचर की मदद से भारत के नेताओं और राजनीतिक पार्टियों को डाटा सिक्योरिटी के लिए हॉटलाइन सर्विस दी जाएगी। इसके अलावा एक अंग्रेजी अखबार की खबरों के अनुसार फेसबुक भारत में होने वाले चुनावों के लिए एक इलेक्शन इंटिग्रिटी माइक्रोसाइट भी शुरू करने जा रहा है। 

गौरतलब है कि फेसबुक से डाटा लीक मामले में कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद से कंपनी को चेतावनी दी थी। फेसबुक ने कहा है कि इस हॉटलाइन सर्विस के तहत किसी भी तरह का डाटा लीक होने पर भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक और आईटी मंत्रालय के अंतर्गत काम करने वाली कंप्यूटर इमर्जेंसी रिस्पॉन्स टीम [email protected] पर शिकायत कर सकती है।


ये भी पढ़ें - इंदौर कोर्ट का बड़ा फैसला, दुधमुंही बच्ची से दुष्कर्म करने वाले को दी सजा-ए-मौत

यहां बता दें कि सुरक्षा की दृष्टि से साइबर सिक्योरिटी गाइड भी जारी की है। इसके तहत साइबर सिक्योरिटी गाइड के जरिए राजनीतिक पार्टियों को फेसबुक पेज और अकाउंट को सुरक्षित रखने का गुर सिखाया जाएगा। इसमें टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन और संदिग्ध लिंक्स पर क्लिक ना करने की सलाह दी गई है। बता दें कि अभी हाल ही में केंद्र सरकार ने फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग पर प्राईवेसी पर सवाल उठाए थे जिसके बाद फेसबुक ने यह फैसला लिया है।

Todays Beets: