Friday, August 23, 2019

Breaking News

   Parle में छंटनी का संकट: मयंक शाह बोले- सरकार से अहसान नहीं मांग रहे     ||   ILFS लोन मामले में MNS प्रमुख राज ठाकरे से ED की पूछताछ    ||   दिल्ली: प्रगति मैदान के पास निर्माणाधीन इमारत में लगी आग    ||   मध्य प्रदेश: टेरर फंडिंग मामले में 5 हिरासत में, जांच जारी     ||   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||

चुनाव में डाटा लीक से सुरक्षा के लिए शुरू की हाॅट लाइन सर्विस, नेताओं को सिखाया जाएगा अकाउंट सुरक्षित रखने के गुर

अंग्वाल न्यूज डेस्क
चुनाव में डाटा लीक से सुरक्षा के लिए शुरू की हाॅट लाइन सर्विस, नेताओं को सिखाया जाएगा अकाउंट सुरक्षित रखने के गुर

नई दिल्ली। डाटा लीक होने के मामले के बीच फेसबुक ने भारतीय नेताओं को बड़ी राहत दी है। फेसबुक ने भारतीय नेताओं के लिए ई-मेल आधारित खास फीचर ‘साइबर थ्रेट क्राइसिस’ का ऐलान किया है। इस फीचर की मदद से भारत के नेताओं और राजनीतिक पार्टियों को डाटा सिक्योरिटी के लिए हॉटलाइन सर्विस दी जाएगी। इसके अलावा एक अंग्रेजी अखबार की खबरों के अनुसार फेसबुक भारत में होने वाले चुनावों के लिए एक इलेक्शन इंटिग्रिटी माइक्रोसाइट भी शुरू करने जा रहा है। 

गौरतलब है कि फेसबुक से डाटा लीक मामले में कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद से कंपनी को चेतावनी दी थी। फेसबुक ने कहा है कि इस हॉटलाइन सर्विस के तहत किसी भी तरह का डाटा लीक होने पर भारत सरकार के इलेक्ट्रॉनिक और आईटी मंत्रालय के अंतर्गत काम करने वाली कंप्यूटर इमर्जेंसी रिस्पॉन्स टीम indiacyberthreats@fb.com पर शिकायत कर सकती है।


ये भी पढ़ें - इंदौर कोर्ट का बड़ा फैसला, दुधमुंही बच्ची से दुष्कर्म करने वाले को दी सजा-ए-मौत

यहां बता दें कि सुरक्षा की दृष्टि से साइबर सिक्योरिटी गाइड भी जारी की है। इसके तहत साइबर सिक्योरिटी गाइड के जरिए राजनीतिक पार्टियों को फेसबुक पेज और अकाउंट को सुरक्षित रखने का गुर सिखाया जाएगा। इसमें टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन और संदिग्ध लिंक्स पर क्लिक ना करने की सलाह दी गई है। बता दें कि अभी हाल ही में केंद्र सरकार ने फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग पर प्राईवेसी पर सवाल उठाए थे जिसके बाद फेसबुक ने यह फैसला लिया है।

Todays Beets: