Monday, February 24, 2020

Breaking News

   भोपाल की बडी झील में पलटी आईपीएस अधिकारियों की नाव, कोई जनहानी नहीं    ||   सुरक्षा परिषद के मंच का दुरुपयोग करके कश्मीर मसले को उछालने की कोशिश कर रहा PAK: भारतीय विदेश मंत्रालय     ||   IIM कोझिकोड में बोले पीएम मोदी- भारतीय चिंतन में दुनिया की बड़ी समस्याओं को हल करने का है सामर्थ    ||   बिहार में रेलवे ट्रैक पर आई बैलगाड़ी को ट्रेन ने मारी टक्कर, 5 लोगों की मौत, 2 गंभीर रूप से घायल     ||   CAA और 370 पर बोले मालदीव के विदेश मंत्री- भारत जीवंत लोकतंत्र, दूसरे देशों को नहीं करना चाहिए दखल     ||   जेएनयू के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने कहा- हिंसा को लेकर यूनिवर्सिटी को बंद करने की कोई योजना नहीं     ||   मायावती का प्रियंका पर पलटवार- कांग्रेस ने की दलितों की अनदेखी, बनानी पड़ी BSP     ||   आर्मी चीफ पर भड़के चिदंबरम, कहा- आप सेना का काम संभालिए, राजनीति हमें करने दें     ||   राजस्थान: BJP प्रतिनिधिमंडल ने कोटा के अस्पताल का दौरा किया, 48 घंटों में 10 नवजात शिशुओं की हुई थी मौत     ||   दिल्ली: दरियागंज हिंसा के 15 आरोपियों की जमानत याचिका पर 7 जनवरी को सुनवाई करेगा तीस हजारी कोर्ट     ||

फेक न्यूज फैलाने वालों पर चला ट्विटर का ‘डंडा’, 7 करोड़ अकाउंट्स को किया सस्पेंड

अंग्वाल न्यूज डेस्क
फेक न्यूज फैलाने वालों पर चला ट्विटर का ‘डंडा’, 7 करोड़ अकाउंट्स को किया सस्पेंड

नई दिल्ली। देश दुनिया में फेक न्यूज के बढ़ते चलन को कम करने के लिए ट्विटर ने एक बड़ा कदम उठाया है। ट्विटर ने अपनी यह कार्रवाई मई-जून में ही शुरू कर दी थी। इसके तहत ट्विटर ने 2 महीनों में 7 करोड़ अकाउंट्स को सस्पेंड कर दिया है। बता दें कि ट्विटर ने यह कार्रवाई ट्रोल्स को हटाने के लिए की है। सूत्रों के मुताबिक ट्विटर पर फेक अकाउंट के कारण अमेरिका के स्थानीय चुनाव के प्रभावित होने की संभावना है। बढ़ते राजनीतिक दबाव के बाद ट्विटर ने फेक अकाउंट्स को बंद कर दिया है। स्पैम और फेक अकाउंट्स को बंद करने के लिहाज से यह ट्विटर कि सब से बड़ी कार्रवाई है।

ये भी पढ़े-व्हाट्सएप लाया नया फीचर, अब ग्रुप एडमिन तय करेगा कौन मैसेज करेगा कौन नहीं

रिपोर्ट के अनुसार गैरजरूरी अकाउंट्स को डिलीट करने को लेकर उठाए गए ट्विटर के कदमों का असर यूजर्स की संख्या पर पड़ सकता है। माना जा रहा है कि यह संख्या दूसरे क्वार्टर में कम हो सकती है।

इससे पहले पिछले महीने ट्विटर ने ट्रोल्स, दुर्व्यवहार और हिंसक अतिवाद पर नई नीतियों के बनाने का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि हम स्पैम और दुर्व्यवहार से लड़ने के लिए नई तकनीक और कर्मचारियों को ला रहे हैं।


ये भी पढ़े-फेसबुक ने नफरत फैलाने वाले 58 करोड़ अकाउंट को किया बंद, पोस्ट भी किए डिलीट 

गौरतलब है कि जून में लिखे गए अपने आधिकारिक ब्लॉग पोस्ट में ट्विटर के ट्रस्ट एंड सेफ्टी वाइस प्रेसिडेंट डेल हार्वे ने ट्विटर पर बातचीत में सुधार करने पर फोकस करने की बात कही थी ताकि यूजर्स को ट्विटर पर विश्वसनीय, प्रासंगिक और उच्च गुणवत्ता वाली जानकारी मिल सके।

 

Todays Beets: