Sunday, August 16, 2020

Breaking News

   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||   कानपुर गोलीकांड की जांच के लिए एसआईटी गठित, 31 जुलाई तक सौंपनी होगी रिपोर्ट     ||   धमकी देकर फरीदाबाद में रिश्तेदार के घर रुका था विकास, अमर दुबे से हुआ था झगड़ा     ||   राजस्थान: विधायकों को राज्य से बाहर जाने से रोकने के लिए सीमा पर बढ़ाई गई चौकसी     ||   हार्दिक पटेल गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त     ||   गुवाहाटी केंद्रीय जेल में बंद आरटीआई कार्यकर्ता अखिल गोगोई समेत 33 कैदी कोरोना पॉजिटिव     ||   अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, नानावती अस्पताल में कराए गए भर्ती     ||   राजस्थान सरकार का प्राइवेट स्कूलों को आदेश- स्कूल खुलने तक फीस न लें     ||   गुजरात सरकार में मंत्री रमन पाटकर कोरोना वायरस से संक्रमित     ||   विकास दुबे पर पुलिस की नाकामी से भड़के योगी, खुद रख रहे ऑपरेशन पर नजर!     ||

केंद्रीय कर्मचारियों और पेशनधारकों के DA में कटौती पर अब मनमोहन सिंह बोले - सरकार का फैसला गैरजरूरी

अंग्वाल न्यूज डेस्क
केंद्रीय कर्मचारियों और पेशनधारकों के DA में कटौती पर अब मनमोहन सिंह बोले - सरकार का फैसला गैरजरूरी

नई दिल्ली । केंद्र की मोदी सरकार ने 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और 61 लाख पेंशनभोगियों को झटका देते उनके बढ़े हुए महंगाई भत्ते को रोकने का फैसला लिया था , जिस पर अब कांग्रेस ने अपनी आपत्ति जताना शुरू कर दिया है । पहले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के विरोध के बाद अब पूर्व आरबीआई गवर्नर और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार के इस फैसले को गैर जरूरी करार दिया है । मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि मौजूदा वक्त में सरकारी कर्मचारियों को आर्थिक रूप से मुश्किल में डालना गैरजरूरी है । इससे पहले राहुल गांधी ने इस फैसले को अमानवीय और असंवेदनशील करार दिया था । 

विदित हो कि मुताबिक कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से सरकार पर पड़े आर्थिक बोझ के कारण मोदी सरकार ने यह फैसला लिया है । केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों पर ये रोक जून 2021 तक लागू रहेगी । इस कटौती की वजह से केंद्र और राज्य सरकार के खजाने को लगभग सवा लाख करोड़ रुपये की बचत होगी । हालांकि इस सबका सीधा असर 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों और 61 लाख पेंशनभोगियों पर पड़ेगा । 


असल में सरकारी कर्मचारियों को 17 की बजाए 21 फीसदी महंगाई भत्ता मिलने की उम्मीद थी , लेकिन अब सरकार ने इस बढ़ोतरी पर रोक लगा दी है । इसकी वजह से अब केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को करीब 18 महीने तक सिर्फ 17 फीसदी के हिसाब से महंगाई भत्ता मिलेगा ।

इस पूरे प्रकरण पर मनमोहन सिंह ने कहा कि उन्हें लगता है कि इस स्टेज पर सरकारी कर्मचारियों और सैन्य बलों पर आर्थिक दबाव डालने की कोई जरूरत नहीं है । कांग्रेस पार्टी ने भी इसका विरोध किया और इस फैसले को जले पर नमक छिड़कने जैसा बताया । 

EX PM    manmohan singh    RBI    opposed cut of DA    dearness allowance    corona virus    lock down    prime minister     modi govt    home inisrty    liquor outlets    liquor outlets    wine shop    modi govt    home minisrty big relief    allow all shops    lockdown 2    social distancing    rapid test    lockdown 2    home ministry    guideline live update    corona virus    US expert    wuhan  city    america investigation    corona    rajasthan health minister    raghu sharma    covid 19 test    antibodies test    coronavirus rapid testing kits    pizza delivery boy    research on CORONA      delhi metro    advisory     कोरोना वायरस       एडवाजरी      संक्रमण से बचाव        कोविड 19       पीएम मोदी       जनता कर्फ्यू       लॉकडाउन        डोनाल्ड ट्रंप       विश्व स्वास्थ्य संगठन    डब्ल्यूएचओ    दिल्ली पुलिस    पीएम राहत कोष    साइबर ठगी    कोरोना मुक्त प्रदेश    निजामुद्दीन    तबलीगी    मरकज    वुहान की लैब    अमेरिकी एक्सपर्ट    कोरोना साजिश    प्लाजमा थैरेपी    असदुद्दीन ओवैसी    स्वास्थ्यर्मियों पर हमला    गैर जमानती अपराध    कोरोना वॉरियर्स    अध्यादेश को मंजूरी    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद   

Todays Beets: