Thursday, December 1, 2022

Breaking News

   सुकेश चंद्रशेखर विवाद के बीच तिहाड़ जेल से हटाए गए DG संदीप गोयल, संजय बेनीवाल को मिली कमान     ||   MHA ने NIA के 2 नए विंग को दी मंजूरी, 142 जांच अधिकारी-कर्मचारी बढ़ाए     ||   पाकिस्तान को बाढ़ से निपटने के लिए 10 अरब डॉलर की जरूरत, मंत्री का बयान     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 1992 बाबरी मस्जिद विध्वंस से जुड़े सभी मामलो को बंद किया     ||   मनीष के घर-लॉकर से कुछ नहीं मिला, ईमानदार साबित हुए: CM केजरीवाल     ||   दिल्ली: JP नड्डा को बताना चाहता हूं, बच्चा चुराने लगी है BJP- मनीष सिसोदिया     ||   टेस्ला के मालिक एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, ट्विटर संग होगी कानूनी जंग    ||   गोवा में कांग्रेस पर सियासी संकट! सोनिया ने खुद संभाला मोर्चा    ||   जयललिता की पार्टी में वर्चस्व की जंग हारे पनीरसेल्वम, हंगामे के बीच पलानीस्वामी बने अंतरिम महासचिव     ||   देशभर में मानसून एक्टिव हो गया है और ज्यादातर राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश ने देश के बड़े हिस्से में तबाही मचाई है    ||

अपने शहीद पति का सपना पूरा कर शोरोल - हरवीन कौर बनीं सेना में अफसर , जानें क्या है इनका सफरनामा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
अपने शहीद पति का सपना पूरा कर शोरोल - हरवीन कौर बनीं सेना में अफसर , जानें क्या है इनका सफरनामा

नई दिल्ली । एक बार फिर से देश की बेटियों ने वो कर दिखाया , जो लोगों के लिए मिसाल बनकर सामने आ रही है । असल में भारतीय सेना की ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी से शनिवार को 11 महीने की कठोर ट्रेनिंग लेने के बाद 35 महिलाओं समेत कल 100 से अधिक कैडेट्स सेना में शामिल हुए । इस दौरान दो महिला अफसरों के चेहरे कुछ अलग ही चमक के साथ नजर आए , जिनके नाम हैं हरवीन कहलों और रिगजिन चोरोल । असल में दोनों ही महिला अफसरों ने अपने सेना में शहीद हुए पतियों के सपने को पूरा करके , भारतीय सेना में अफसर बनकर दिखाया है । 

चलिए जानते हैं हरवीन  कौर के बारे में 

भारत की गौरव कैडेट हरवीन कहलों ओटीए चेन्नई में शामिल हो गई हैं. 11 महीने की कठोर ट्रेनिंग के बाद, उन्हें भारतीय सेना में एक अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया । इस दौरान पासिंग आउट परेड से जो तस्वीरें सामने आई हैं वो दिल को छू लेने वाली हैं । अपने बच्चों को गोद में लिए इन महिलाओं के चेहरे पर वो गर्व और आत्मविश्वास देखते बन रहा है। 

हरवीन कौर कहलों भी अपने पति मेजर केपीएस कहलों के नक्शेकदम पर चलीं हैं । हरवीन कौर कहलों का कहना है कि, 'मेरे पति ने सेना में शामिल होने के मेरे उत्साह को प्रोत्साहित किया था ।  मैं उनके सपने को साकार करना चाहती थी। बता दें कि जब उनके पति मेजर कंवलपाल सिंह कहलों स्वर्गीय हुए, उस दौरान हरवीन कौर कहलों जालंधर के एक निजी स्कूल में शिक्षिका थीं । मेजर कंवलपाल सिंह कहलों 129 SATA रेजीमेंट में तैनात थे और उन्होंने देश के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया था । 


जानतें हैं लेफ्टिनेंट रिगजिन चोरोल के बारे में 

इसी क्रम में एक अन्य महिला अफसर रिगजिन चोरोल हैं , जिनके पति रिगजिन खंडप लद्दाख स्काउट्स की जेडांग सुंपा बटालियन में एक राइफलमैन थे ।  खंडप की मौत ड्यूटी के दौरान एक दुर्घटना में हो गई थी । अपने पति की मौत के बाद वह कमजोर नहीं पड़ीं और उन्होंने अपने पति के सपने को पूरा करने के लिए सेना में अफसर बनने की तैयारी शुरू की । 

शनिवार को हुई पासिंग आउट परेड में रिगजिन चोरोल भी अपने बच्चे को गोद में लिए प्यारी सी मुस्कुराहट के साथ सबको बता रही हैं कि उन्होंने अपने पति का सपना पूरा कर लिया है । 

समारोह के दौरान अपने बेटे को गोद में लिये लेफ्टिनेंट रिगजिन शोरोल ने बताया कि, 'मैंने अपने पति के सपने को पूरा किया, वह चाहते थे कि मैं एक सेना अधिकारी बनूं ।  मेरी यात्रा दिसंबर 2021 में शुरू हुई, जब मैं ओटीए में शामिल हुई और 11 महीने के कठोर ट्रेनिंग के बाद इकलौती संतान से दूर रहकर, मैंने यह किया । मुझे यकीन है कि मेरे (दिवंगत) पति को गर्व होगा. मुझे अधिकारी बनते देखने के लिए ।

Todays Beets: