Thursday, December 1, 2022

Breaking News

   सुकेश चंद्रशेखर विवाद के बीच तिहाड़ जेल से हटाए गए DG संदीप गोयल, संजय बेनीवाल को मिली कमान     ||   MHA ने NIA के 2 नए विंग को दी मंजूरी, 142 जांच अधिकारी-कर्मचारी बढ़ाए     ||   पाकिस्तान को बाढ़ से निपटने के लिए 10 अरब डॉलर की जरूरत, मंत्री का बयान     ||   सुप्रीम कोर्ट ने 1992 बाबरी मस्जिद विध्वंस से जुड़े सभी मामलो को बंद किया     ||   मनीष के घर-लॉकर से कुछ नहीं मिला, ईमानदार साबित हुए: CM केजरीवाल     ||   दिल्ली: JP नड्डा को बताना चाहता हूं, बच्चा चुराने लगी है BJP- मनीष सिसोदिया     ||   टेस्ला के मालिक एलन मस्क को कोर्ट में घसीटने की तैयारी, ट्विटर संग होगी कानूनी जंग    ||   गोवा में कांग्रेस पर सियासी संकट! सोनिया ने खुद संभाला मोर्चा    ||   जयललिता की पार्टी में वर्चस्व की जंग हारे पनीरसेल्वम, हंगामे के बीच पलानीस्वामी बने अंतरिम महासचिव     ||   देशभर में मानसून एक्टिव हो गया है और ज्यादातर राज्यों में जोरदार बारिश हो रही है. भारी बारिश ने देश के बड़े हिस्से में तबाही मचाई है    ||

होम लोन फिर हो सकता है महंगा , RBI ने फिर बढ़ाई रेपो रेट की दरें

अंग्वाल न्यूज डेस्क
होम लोन फिर हो सकता है महंगा , RBI ने फिर बढ़ाई रेपो रेट की दरें

नई दिल्ली । आरबीआई गर्वनर शक्‍त‍िकांत दास (Governor Shaktikanta Das) ने शुक्रवार को एक बार फिर से रेपो रेट बढ़ाने का ऐलान किया । गत मई से लेकर अब तक यह चौथा मौका है जब RBI ने रेपो रेट में इजाफा क‍िया है । RBI ने रेपो रेट में 50 आधार अंकों की बढ़ोतरी करते हुए इसे 5.40 फीसदी से बढ़ाकर 5.90 फीसदी कर दिया है । 5 महीने में अब तक रेपो रेट में 1.90 प्रतिशत की बढ़ोतरी हो चुकी है । र‍िजर्व बैंक की तरफ से कहा गया क‍ि महंगाई सभी सेक्‍टर के ल‍िए च‍िंता का व‍िषय बना हुआ है । ऐसे में रेपो रेट एक बार फ‍िर बढ़ान जरूरी है । इसका असर आपके होम लोन की किश्तों पर पड़ सकता है । आशंका है कि जल्द आपका होम लोन महंगा हो सकता है । 

RBI गवर्नर ने द्विमासिक मौद्रिक नीति की घोषणा करते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी और रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से वैश्विक अर्थव्‍यवस्‍था प्रभावित हुई है और भारत भी इससे अछूता नहीं है । महंगाई दर अब भी आरबीआई द्वारा तय कंफर्ट जोन 2-6 प्रतिशत के ऊपर है । डॉलर के मुकाबले रुपया रिकॉर्ड निम्‍न स्‍तर तक पहुंच गया । ऐसी परिस्थिति में RBI की Monetary Policy Committee ने जो निर्णय लिए हैं उनकी घोषणा शक्तिकांत दास ने की । 

विदित हो कि MPC के 6 में से 5 सदस्य रेपो रेट बढ़ाने के पक्ष में रहे. मई से अब तक लगातार चौथी बार रेपो रेट बढ़कर 5.90 प्रत‍िशत पर पहुंच गया है । इससे पहले जून और जुलाई में भी रेपो रेट में इजाफा क‍िया गया । रेपो रेट बढ़ने के बाद होम लोन, पर्सनल लोन और कार लोन महंगा हो जाएगा । दूसरी तरफ बैंकों की तरफ से ग्राहकों को एफडी पर द‍िये जाने वाला ब्‍याज भी बढ़ जाएगा । इसके असर आने वाले द‍िनों में सभी तरह के होम लोन पर पड़ेगा । 

आरबीआई गवर्नर बोले - दुनिया भर में बढ़ती महंगाई को देखते हुए आर्थिक मंदी की आशंका बढ़ रही है लेकिन भारत की आर्थिक स्थिति बेहतर है । आरबीआई ने उपभोक्‍ता मूल्‍य आधारित महंगाई दर (Consumer Price Index (CPI) Inflation) का अनुमान वित्‍त वर्ष 2023 के लिए 6.7 प्रतिशत पर बरकरार रखा है । वित्‍त वर्ष 2023 के लिए वास्‍तविक सकेल घरेलू उत्‍पाद (GDP Growth Projection) के अनुमान को 7.2 प्रतिशत से घटा कर 7 प्रतिशत किया गया है । दास ने कहा कि इस साल 28 सितंबर तक डॉलर के मुकाबले रुपये में 7.4 प्रतिशत का अवमूल्‍यन हुआ है. आरबीआई ने रुपये के लिए कोई खास विनिमय दर तय नहीं किया है. रुपये की ज्‍यादा अस्थिरता की दशा में आरबीआई हस्‍तक्षेप करता है और केंद्रीय बैंक का विदेशी मुद्रा भंडार मजबूत 


क्‍या होता है रेपो रेट?

बता दें कि जिस रेट पर आरबीआई की तरफ से बैंकों को लोन द‍िया जाता है, उसे रेपो रेट कहा जाता है । रेपो रेट बढ़ने का मतलब है क‍ि बैंकों को आरबीआई से महंगे रेट पर कर्ज मिलेगा ।  इससे होम लोन, कार लोन और पर्सनल लोन आद‍ि की ब्‍याज दर बढ़ जाएगी, ज‍िससे आपकी ईएमआई पर सीधा असर पड़ेगा । 

 

Todays Beets: