Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

संसद परिसर में एकाएक नजर आए ' सत्यासाईं बाबा' , आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य की मांग का कर रहे समर्थन

अंग्वाल न्यूज डेस्क
संसद परिसर में एकाएक नजर आए

 नई दिल्ली । मीडिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने के लिए लोग क्या क्या नहीं करते, लेकिन जब बात किसी मुद्दे पर अपनी बात कहने के लिए कोई सांसद एक अनोखे रूप में सामने आए तो क्या कहेंगे। कुछ ऐसा ही किया है आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा मांग रहे तुलगुदेशम पार्टी के सांसद नरामली शिवाप्रसाद ने। अमूमन कई रूप धरने के लिए पहले भी सुर्खियों में आने वाले TDP सांसद शिवाप्रसाद इस बात सत्यासाई बाबा के रूप में अपनी बात रखते नजर आए। इस दौरान उनके साथ पार्टी के कई अन्य सांसद केंद्र सरकार को ध्यानार्थ श्लोगन लेकर खड़े थे। 

बता दें कि टीडीपी सांसद शिवप्रसाद अमूमन विरोध प्रदर्शन के दौरान अपने विभिन्न रूप धरने को लेकर सुर्खियों में रह चुके हैं। जहां एक ओर संसद में एनआरसी के मुद्दे पर गर्म थी, वहीं संसद के बाहर शिवप्रसाद अपने नए रूप में मौजूद थे। उन्होंने सत्यासाईं बाबा की तरह अपनी रूप धरा हुआ था । उन्होंने उन्हीं की तरह चोला पहना हुआ था और अपने बालों को भी उन्हीं की तरह घुंघराले रूप में बनाया हुआ था। वह आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग वाले श्लोगन लेकर खड़े थे।

असम में घुसपैठियों को लेकर भाजपा नेता का विवादित बयान, कहा-नहीं जा रहे तो गोली मार दो

पिछले हफ्ते इस मुद्दे को लेकर शिवप्रसाद ने कुछ अन्य रूप धारण किए थे। पिछले दिनों वह सुप्रसिद्ध कवि अन्नामया के रूप में नजर आए थे तो इसी तरह बालाजी के भक्त के रूप में दिखे थे। इतना ही नहीं बजट सत्र के अंतिम दिन शिवाप्रसाद ऋषि विश्वामित्र के रूप में नजर आए थे। इनके अलावा वह नारदमुनी से लेकर परशुराम के अवतार में भी लोगों के सामने आ चुके हैं। 


भाजपा के सर्वाधिक सांसद-विधायकों पर अपहरण के मुकदमे , ADR की रिपोर्ट में खुलासा- यूपी-बिहार के सबसे ज्यादा माननीय दागी 

बता दें कि टीएमसी सांसद शिवाप्रसाद पेशे से एक डॉक्टर हैं। उन्होंने कुछ फिल्मों में भी काम किया है।  

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 15 अगस्त के भाषण के लिए मांगे सुझाव, जानें कैसे दे सकते हैं अपनी राय 

Todays Beets: