Sunday, February 28, 2021

Breaking News

   सरकार की सत्याग्रही किसानों को इधर-उधर की बातों में उलझाने की कोशिश बेकार है-राहुल गांधी     ||   थाइलैंड में साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने गई हैं विदेश     ||   एयर एशिया के विमान से पुणे से दिल्ली पहुंची कोरोना वैक्सीन की पहली खेप     ||   फिटनेस समस्या की वजह से भारत-ऑस्ट्रेलिया चौथे टेस्ट से गेंदबाज जसप्रीत बुमराह बाहर     ||   दिल्ली: हरियाणा के डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला की पार्टी विधायकों के साथ बैठक, किसान आंदोलन पर चर्चा     ||   हम अपने पसंद के समय, स्थान और लक्ष्य पर प्रतिक्रिया देने का अधिकार सुरक्षित रखते हैं- आर्मी चीफ     ||   कानपुर: विकास दुबे और उसके गुर्गों समेत 200 लोगों की असलहा लाइसेंस फाइल हुई गायब     ||   हाथरस कांड: यूपी सरकार ने SC में पीड़िता के परिवार की सुरक्षा पर दाखिल किया हलफनामा     ||   लखनऊ: आत्मदाह की कोशिश मामले में पूर्व राज्यपाल के बेटे को हिरासत में लिया गया     ||   मानहानि केस: पायल घोष ने ऋचा चड्ढा से बिना शर्त माफी मांगी     ||

कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर बोले - 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में कदम है कृषि बिल 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर बोले - 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की दिशा में कदम है कृषि बिल 

नई दिल्ली । केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शुक्रवार को 15 राज्यों और लगभग 500 किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) का प्रतिनिधित्व कर रहे फेडरेशन ऑफ इंडियन एफपीओ एंड एग्रीगेटर्स (एफआईएफए) के कृषक उत्पादक संगठनों के सदस्यों के साथ कृषि भवन में मुलाकात की। उन्होंने भारत सरकार द्वारा हाल में किए गए कृषि सुधारों के प्रति अपना समर्थन प्रकट किया। उन्होंने अनुकूल माहौल बनाने के लिए केन्द्रीय मंत्री के प्रति आभार प्रकट किया, जो इन अधिनियमों के माध्यम से एफपीओ संगठनों का व्यवसाय बढ़ाकर छोटे और सीमांत किसानों को लाभ पहुंचाकर संभव हुआ है। इस दौरान उन्होंने कहा कि वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने की दिशा में यह कृषि बिल बहुत अहम हैं ।

हाल में किए गए कृषि सुधारों में कृषक उपज व्यापार एवं वाणिज्य (संवर्धन और सरलीकरण) अधिनियम, 2020;  कृषक (सशक्तिकरण व संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा पर करार विधेयक, 2020; आवश्यक वस्तु अधिनियम के अंतर्गत नियंत्रण आदेशों का लचीलापन; 10,000 एफपीओ को प्रोत्साहन के लिए कृषि अवसंरचना कोष (एआईएफ) और परिचालन दिशा-निर्देश शामिल हैं, जो किसानों की आय बढ़ाने के लिए एफपीओ को अपने बाजारों की स्थापना में समर्थन दे सकते हैं।

कृषि क्षेत्र में इन सुधारों के होने से बागवानी फसलों और मूल्य वर्धित वस्तुओं के उत्पादन की मात्रा बढ़ेगी; छोटे किसानों तथा किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) को मजबूत करने के लिए संस्थागत ऋण की सुविधा मिलेगी; एग्री-लॉजिस्टिक्स इन्फ्रास्ट्रक्चर को प्रमुख रूप से बढ़ावा मिलेगा; भारत के सभी उपभोग क्षेत्रों की मांग को पूरा करने के लिए हर प्रकार के संपर्क विकसित करेगा; यह एक देश एक बाज़ार की अवधारणा को बढ़ावा देगा और एफपीओ आंदोलन को एक जन आंदोलन बना देगा।

नाफेड(नेशनल एग्रीकल्चरल कोऑपरेटिव मार्केटिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड) को कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के 10000 एफपीओ कार्यक्रम के गठन तथा संवर्धन के लिए राष्ट्रीय कार्यान्वयन एजेंसियों में से एक के रूप में नामित किया गया है। नाफेड ने एफआईएफए का अपनी उपज के लिए एफपीओ की बाजार संपर्क सहायता प्रदान करने और नाफेड ई-किसान मंडी (एनईकेएम) के ब्रांड के तहत एफपीओ के साथ साझेदारी में बाजार बनाने के वास्ते अधिग्रहण किया है जो नाफेडद्वारा बनाए गए राष्ट्रीय डिजिटल विपणन मंच से जुड़ा होगा।

निम्नलिखित राज्यों में 2021 में 50 नाफेड ई-किसान मंडियां बनाई जाएंगी:

हरियाणा - 3

पंजाब - 2

राजस्थान - 3

मध्य  प्रदेश - 3

गुजरात - 5

महाराष्ट्र - 8

कर्नाटक - 3


तमिलनाडु - 4

आंध्र प्रदेश - 3

तेलंगाना - 1

झारखंड - 2

बिहार - 2

छत्तीसगढ़ - 1

ओडिशा - 2

उत्तर प्रदेश - 4

जम्मू और कश्मीर - 1

पूर्वोत्तर - 3

 

narender singh tomer    kisaan sammelan    supreme court    delhi noida border seal    delhi ncr border seal     traffic jam      lockdown       NCR       Delhi NCR      delhi border seal      gurugram      faridabad       noida      ghaziabad      movement pass       corona    lockdown      liqour shop in delhi    delhi government      anti farm bill    farmers protest    Sukhbir Singh Badal      BJP    modi live    modi government    home minister    amit shah    agricuture minister narender tomer    protest    delhi ncr boarder    punjab hariyana farmers    पंजाब    हरियाणा के किसान    किसान आंदोलन    किसानों का विरोध प्रदर्शन    कृषि बिल का विरोध    किसान नेता    दिल्ली एनसीआर बॉर्डर    किसानों का विरोध    सुखबीर सिंह बादल    टुकड़े टुकड़े गैंग    पंजाब    आतंकवाद    मुस्लिम विरोधी    हिंदू    दिल्ली नोएडा बॉर्डर ब्लॉक    border block    किसान सम्मेलन    पीएम मोदी    मोदी लाइव    मोदी किसान सम्मेलन में       

Todays Beets: