Monday, August 19, 2019

Breaking News

   जिन्होंने 72 हजार देने का वादा किया था, वे 72 सीटें भी नहीं जीत पाए : मोदी     ||   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 अगस्त को दिन में 11 बजे करेंगे मन की बात     ||   कोलकाता के पूर्व मेयर और TMC विधायक शोभन चटर्जी, बैसाखी बनर्जी BJP में शामिल     ||   गुजरात में बड़ा हमला कर सकते हैं आतंकी, सुरक्षा एजेंसियों का राज्य पुलिस को अलर्ट     ||   अयोध्या केस: मध्यस्थता की कोशिश खत्म, कल सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई     ||   पोंजी घोटाला: 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया आरोपी मंसूर खान     ||   उमर अब्दुल्ला ने पीएम मोदी से की मांग, इस साल के अंत तक कश्मीर में हों चुनाव     ||   मोटर वाहन बिल: अब और महंगा पड़ेगा ट्रैफिक रूल्स का उल्लंघन, बढ़ाया गया जुर्माना     ||   सूरत: सभी मोदी चोर कहने का मामला, 10 अक्टूबर को हो सकती है राहुल गांधी की पेशी     ||   मुंबई: इमारत गिरने पर बोले MIM नेता वारिस पठान- यह हादसा नहीं, हत्या है     ||

हरियाणा के मंत्री ने दिया अजीबोगरीब बयान, कहा-देश को हमेशा ही गलत इतिहास पढ़ाया गया

अंग्वाल न्यूज डेस्क
हरियाणा के मंत्री ने दिया अजीबोगरीब बयान, कहा-देश को हमेशा ही गलत इतिहास पढ़ाया गया

चंडीगढ़। अपने बयानों की वजह से अक्सर चर्चा में रहने वाले हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने देश के इतिहास को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। अनिल विज ने आर्य समाज भवन में एबीवीपी द्वारा आयोजित नगर छात्र संघ सम्मान समारोह में छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि उन्हें देश के लिए बलिदान हुए भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव, चंद्र शेखर आजाद, नेता जी सुभाष चंद्र बोस, सरदार पटेल, महाराणा प्रताप जैसे वीरों का अनुकरण करना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारे देश मे हमेशा से ही गलत इतिहास पढ़ाया गया है। 

गौरतलब है कि उन्होंने कहा कि विदेशी ताकतों ने एक लंबे समय से देश के इतिहास से खिलवाड़ किया है। विज ने कहा कि हमें हमेशा पढ़ाया गया अकबर द ग्रेट, जबकि हमें पढ़ना चाहिए महाराणा प्रताप द ग्रेट। महाराणा प्रताप ने देश की भलाई के लिए अपना सबकुछ न्योछावर कर दिया। उन्होंने कहा कि हमारे देश में ऐसे कई वीर महापुरुष हैं जिन्होंने अपना बलिदान दिया है लेकिन आजादी के बाद उन्हें सही स्थान नहीं मिल पाया।

ये भी पढ़ें - दिवाली से पहले छोटे उद्योगों को पीएम ने दिया तोहफा, मात्र 59 मिनट में मिलेगा 1 करोड़ का लोन


यहां बता दें कि इससे पहले भी मंत्री अनिल विज ने राम मंदिर निर्माण पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा सुनवाई जनवरी 2019 तक टालने के फैसले पर तंज करते हुए कहा था कि ‘सुप्रीम कोर्ट महान है जो चाहे निर्णय दे दे’’। गौर करने वाली बात है कि अनिल विज पहले भी कई विवादास्पद बयान देकर सुर्खियों में रह चुके हैं। 

 

Todays Beets: