Sunday, September 27, 2020

Breaking News

   कप्तान धोनी ने IPL2020 की शुरुआत जीत से की,जानिये कैसे ?     ||   लखनऊ: यूपी में आकाशीय बिजली से हुई मौत के मामले में परिजनों को 4 लाख मुआवजा     ||   कोरोना काल में भाजपा सरकार ने अनेक ख्याली पुलाव पकाए, लेकिन एक सच भी था? -राहुल गांधी     ||   पिछले 6 महीने में भारत-चीन सीमा पर कोई घुसपैठ नहीं: राज्यसभा में गृह मंत्रालय का बयान     ||   राजस्थान: बूंदी में चंबल नदी में नाव डूबने से 6 लोगों की मौत, 12 लोगों को रेस्क्यू किया गया     ||   मुंबई: बच्चन परिवार को अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराएगी मुंबई पुलिस     ||   राज्यसभा में BJP MP विनय सहस्रबुद्धे का बयान, महाराष्ट्र सरकार ही अवैध निर्माण का प्रतीक     ||   ग्रीनलैंड में सबसे बड़ा ग्लेशियर टूटा, चंडीगढ़ के बराबर बर्फ की चट्टान समुद्र में     ||   किसान बिल के विरोध पर बोले नड्डा- कांग्रेस पहले समर्थन में थी, अब राजनीति कर रही     ||   राजस्थान में फिर सियासी ड्रामा, BJP के बहाने गहलोत-पायलट में ठनी     ||

लेबनान में परामणु बम विस्फोट जैसा विस्फोट , 4000 लोग घायल -100 से ज्यादा की मौत, रूह कंपाने वाले वीडियो वायरल

अंग्वाल न्यूज डेस्क
लेबनान में परामणु बम विस्फोट जैसा विस्फोट , 4000 लोग घायल -100 से ज्यादा की मौत, रूह कंपाने वाले वीडियो वायरल

नई दिल्ली । इजरायल और सीरिया के पड़ोसी देश लेबनान की राजधानी बेरुत में मंगलवार को एक ऐसा धमाका हुआ , जिसकी तुलना परमाणु बम विस्फोट से की जा रही है । इस विस्फोट में जहां करीब 4000 लोग घायल हो गए हैं , वहीं अब तक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है । वहीं सैकड़ों लोग गंभीर रूप से घायल है । आधिकारिक बयान में कहा गया है कि गंभीर रूप से घायलों की स्थिति को देखते हुए लग रहा है कि मरने वालों का आंकड़ा बढ़ेगा । 

अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक , यह धमाका बंदरगाह के पास स्थित उस गोदाम में हुआ जहां कथित तौर से एक जहाज से जब्त किया गया 2750 टन विस्फोटक रखा गया था । बेरुत में हुए विस्फोट का आकार हिरोशिमा में किए गए परमाणु बम विस्फोट के पांचवें हिस्से के बराबर था । विस्फोट से करीब 3 किलोटन TNT एनर्जी पैदा हुई । 

इस हमले को लेकर लेबनान की सरकार का कहना है कि 2,750 टन अमोनियम नाइट्रेट 2014 से ही बंदरगाह पर रखा गया था । धमाका इतना बड़ा था कि करीब 200 किमी दूर तक आवाज सुनाई दी । प्रधानमंत्री हसन डिआब ने कहा है कि जो भी लोग इस घटना के जिम्मेदार होंगे उन्हें कीमत चुकानी होगी । उन्होंने देश में 2 हफ्ते की इमरजेंसी का ऐलान किया है । 


विदित हो कि लेबनान पहले से ही आर्थिक संकट और कोरोना वायरस से जूझ रहा है , वहीं इस हादसे के बाद अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस और विरोधी देश इजरायल ने भी मदद की पेशकश की है। । 

 

Todays Beets: