Tuesday, June 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

भाजपा का अखिलेश पर तीखा हमला, कहा-अपने पिता और चाचा की पीछ में घोंपा छूरा

अंग्वाल न्यूज डेस्क
भाजपा का अखिलेश पर तीखा हमला, कहा-अपने पिता और चाचा की पीछ में घोंपा छूरा

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर भारतीय जनता पार्टी ने पलटवार किया है। भाजपा का कहना है कि अखिलेश को सरकार की योजनाओं के तथ्यों के बारे में कुछ पता नहीं होता है वे सिर्फ विश्वासघात करना जानते हैं। भाजपा की ओर से कहा गया है कि विधानसभा में मिली करारी हार से वे अभी तक उबर नहीं पाए हैं इसी वजह से सरकार पर तथ्यहीन आरोप लगाते रहते हैं। भाजपा के प्रवक्ता डॉक्टर चंद्रमोहन ने तो उनपर अपने चाचा की पीठ में छूरा घोपने का आरोप तक लगाया है। 

गौरतलब है कि अखिलेश यादव ने कुछ दिनों पहले केंद्र सरकार की योजना के बारे में गलत ट्वीट किया था जिसकी नीति आयोग के अधिकारी ने ही पोल खोल दी थी। भाजपा प्रवक्ता डाॅक्टर चंद्रमोहन ने अखिलेश यादव को स्वस्थ राजनीति करनी नहीं आती है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि उनके जैसे नाकाबिल नेता को पिता और चाचा ने राजनीति में खड़ा किया और उन्होंने उनकी पीठ में ही छूरा भोंक दिया।


ये भी पढ़ें - नौकरी छोड़ने की चेतावनी का घाटी के नौजवानों ने दिया करारा जवाब, एसपीओ में भर्ती के लिए 10 हजार...

यहां आपको बता दें कि भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि ‘यूज एंड थ्रो’ की राजनीति करने वाले अखिलेश ने सपा के सैकड़ों वरिष्ठ नेताओं को पार्टी से बाहर कर दिया। सभी चापलूसों को अपनी गोद में बिठा लिया। अब वह बसपा की तरफ हाथ जोड़े खड़े हैं ताकि लोकसभा के अगले चुनाव में उनकी पार्टी को कुछ वोट मिल जाएं। 

Todays Beets: