Wednesday, June 26, 2019

Breaking News

   आईबी के निदेशक होंगे 1984 बैच के आईपीएस अरविंद कुमार, दो साल का होगा कार्यकाल    ||   नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत का कार्यकाल सरकार ने दो साल बढ़ाया    ||   BJP में शामिल हुए INLD के राज्यसभा सांसद राम कुमार कश्यप और केरल के पूर्व CPM सांसद अब्दुल्ला कुट्टी    ||   टीम इंडिया की जर्सी पर विवाद के बीच आईसीसी ने दी सफाई, इंग्लैंड की जर्सी भी नीली इसलिए बदला रंग    ||   PIL की सुनवाई के लिए SC ने जारी किया नया रोस्टर, CJI समेत पांच वरिष्ठ जज करेंगे सुनवाई    ||   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||

जम्मू कश्मीर के पंचायत चुनाव में खिला कमल, 5 उम्मीदवारों के खिलाफ नहीं उतरा कोई 

अंग्वाल न्यूज डेस्क
जम्मू कश्मीर के पंचायत चुनाव में खिला कमल, 5 उम्मीदवारों के खिलाफ नहीं उतरा कोई 

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर में होने वाले निकाय और पंचायत चुनाव के पहले चरण में भारतीय जनता पार्टी के 5 उम्मीदवारों का जीतना तय है। खबरों के अनुसार नामों की स्क्रूटनी करने के बाद पता चला कि इनके खिलाफ किसी उम्मीदवार ने पर्चा दाखिल ही नहीं किया है। बता दें कि घाटी में अनुच्छेद 35 ए के मसले को लेकर नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी ने चुनाव का बहिष्कार किया है। ऐसे में मैदान में सिर्फ कांग्रेस और भाजपा ही हैं। स्थानीय खबरों के अनुसार आतंकियों के द्वारा दी जा रही धमकी भी लोगों के चुनाव में हिस्सा न लेने की बड़ी वजह है। 

गौरतलब है कि आतंकियों ने चुनाव से पहले ही कई जिलों के पंचायत घरों में आग लगा दी थी। आतंकियों ने स्थानीय नौजवानों को एसपीओ, पुलिस या सेना में भर्ती न होने और कार्यरत लोगों को नौकरी छोड़ने की धमकी दी थी। धमकी के बाद आतंकियों ने 4 स्पेशल पुलिस आॅफिसर (एसपीओ) को अगवा कर लिया था जिनमें 3 की हत्या कर दी गई थी और 1 को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया था। वहीं दूसरी ओर राज्य में अनुच्छेद 35 ए को खत्म करने की बात को लेकर दोनों राजनीतिक पार्टियां, नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी ने पंचायत चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया था। 


ये भी पढ़ें - आम आदमी ही नहीं पीएम भी जूझ रहे हैं काॅल ड्राॅप समस्या से, दिए तकनीकी समाधान निकालने के निर्देश

यहां बता दें कि दोनों पार्टियों के मैदान से हटने के बाद कांग्रेस और भाजपा के बीच मुकाबला होना है। बुधवार को नामांकन पत्रों की जांच के आखिरी दिन स्क्रूटनी करने के बाद भाजपा के 5 उम्मीदवारों के खिलाफ किसी ने पर्चा ही दाखिल नहीं किया। ऐसे में इनकी जीत तय है और सिर्फ नामों की औपचारिक घोषणा की जानी है। इनमें देवसार म्यूनिसपल कमेटी से सतीश कुमार जुत्शी, अच्छाबल म्यूनिसपल कमेटी से उर्मिला बाली और रिशव बाली, कुलगाम म्यूनिसपल कमेटी से ज्योति गोसानी और बबलू गोसानी शामिल हैं।  

Todays Beets: