Tuesday, June 25, 2019

Breaking News

   अमित शाह बोले - साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के गोसडे पर दिए बयान से भाजपा का सरोकार नहीं    ||   भाजपा के संकल्प पत्र में आतंकवाद और भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई का वादा     ||   सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम और वीवीपैट के मिलान को पांच गुना बढ़ाया    ||    दिल्लीः NGT ने जर्मन कार कंपनी वोक्सवैगन पर 500 करोड़ का जुर्माना ठोंका     ||    दिल्लीः राहुल गांधी 11 मार्च को बूथ कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करेंगे     ||    हैदराबाद: टीका लगाने के बाद एक बच्चे की मौत, 16 बीमार पड़े     ||   मध्य प्रदेश के ब्रांड एंबेसडर होंगे सलमान खान, CM कमलनाथ ने दी जानकारी     ||   पाकिस्तान को FATF से मिली राहत, ग्रे लिस्ट में रहेगा बरकरार     ||   आय से अधिक संपत्ति केसः हिमाचल के पूर्व CM वीरभद्र सिंह के खिलाफ आरोप तय     ||   भीमा-कोरेगांव केसः बॉम्बे HC ने आनंद तेलतुंबड़े की याचिका पर सुनवाई 27 तक टाली     ||

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को कोर्ट ने दिया झटका, शुरू होने से पहले ही होटल निर्माण पर लगाई रोक

अंग्वाल न्यूज डेस्क
पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को कोर्ट ने दिया झटका, शुरू होने से पहले ही होटल निर्माण पर लगाई रोक

लखनऊ। उत्तरप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने जोरदार झटका दिया है। कोर्ट ने हजरतगंज इलाके में बनने वाले अखिलेश यादव के होटल के निर्माण पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही याचिकाकर्ता शिशिर चतुर्वेदी को सुरक्षा मुहैया कराने के आदेश दिए हैं। कोर्ट ने राज्य सरकार सवाल पूछा कि वीवीआईपी हाईसिक्योरिटी जोन में होटल निर्माण की इजाजत किसने दी? अब इस मामले की अगली सुनवाई 5 सितंबर को होगी। 

गौरतलब है कि अखिलेश यादव के होटल का हजरतगंज में विक्रमादित्य मार्ग पर होना प्रस्तावित है। इतने वीवीआईपी सिक्योरिटी जोन में होटल निर्माण की इजाजत मिलने पर अधिवक्ता शिशिर चतुर्वेदी ने कोर्ट में जनहित याचिका दायर की। शनिवार को इस मामले पर सुनवाई हुई और कोर्ट ने स्वतः संज्ञान लेते हुए निर्माण कार्य पर रोक लगा दी और याचिकाकर्ता वकील को सुरक्षा मुहैया कराने के भी आदेश दिए हैं। 


ये भी पढ़ें - केरल में आई प्राकृतिक आपदा को राष्ट्रीय आपदा घोषित किया जाए- राहुल गांधी

यहां बता दें कि होटल को लेकर कोर्ट ने राज्य सरकार से भी पूछा की वीवीआईपी हाईसिक्योरिटी जोन में होटल निर्माण की इजाजत किस अधिकारी ने दे दी?  अब इस मामले की अगली सुनवाई 5 सितंबर को होगी।  वकील शिशिर चतुर्वेदी द्वारा दायर याचिका मामले में अखिलेश यादव, उनकी पत्नी सांसद डिंपल यादव, पिता मुलायम सिंह यादव, जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट समेत कुल 13 लोगों को पार्टी बनाया गया है। याचिकाकर्ता वकील का कहना है कि उनपर पीआईएल वापस लेने के लिए दवाब बनाया जा रहा है। 

Todays Beets: